Hindi Post

पेड़ का महत्व पर 10 लाइन निबंध – 10 Lines on Importance of Trees In Hindi

10 Lines on Trees In Hindi – 10 Lines Essay on Importance & Uses of Trees in Hindi for Class 2, 3, 4, 5…

10 Lines on Importance of Trees In Hindi - Essay
10 Lines on Importance of Trees In Hindi – Essay

10 Lines on Importance of Trees In Hindi – दोस्तों! हम सभी के लिए पेड़-पौधें कोई नयी चीज नहीं है, यहां से वहां तक वहां से यहां तक जहां तक नज़र जाए पेड़-पौधें किसी न किसी रूप में हमें नज़र आते है। दरअसल प्रकृति ने हमें असंख्य पेड़-पौधों का उपहार दिया है। और जिसे अनादिकाल से एक पीढ़ी अपनी आने वाली पीढ़ी को सौंपती आ रही है। फिर भी हम सब के मन में ये इच्छा बनी रहती है, विशेष रूप से बच्चों को यह जानने की जिज्ञासा रहती है कि किस प्रकार से पेड़-पौधे हमारे लिए उपयोगी हैं, और यदि हमारे आसपास पेड़-पौधे न हों तो हम जीवित रह भी सहते हैं या नहीं।

लिहाजा आज पेड़ों से निकटता का परिचय कराने हेतु ही हमने, यहाँ पेड़-पौधों पर दस लाइन तैयार किया है। यह एक निबंध है और विद्यार्थियों के लिए विशेष रूप से कक्षा 2 से 5 तक के बच्चों के लिए बहुत उपयोगी है। कक्षा 1 के बाद के बच्चों में छोटे – छोटे वाक्यों को लिखने की क्षमता आ जाती है। उनकी इसी क्षमता को अधिक पुष्ट और प्रभावशाली बनाने हेतु अधिकांशत: उन्हें पेड़-पौधों के महत्व पर निबंध लेखन का अभ्यास कराया जाता है।

तो चलिए पेश है दूसरी से पांचवी कक्षा के बच्चों के स्तरानुकूल हिंदी में पेड़-पौधों पर 10 लाइन; और जो अत्यंत रोचक, सरल और ग्राह्य है। इन्हें यहाँ पर खास आप के लिए उपलब्ध करा रही हूँ। आशा करती हूँ कि आपको इससे जरूर मदद मिलेगी।

10 Lines on Trees In Hindi

1- पेड़ पारिस्थितिकी तंत्र का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं।

2- ये चल फिर नहीं सकते लेकिन इंसानों की तरह श्वास ले सकते हैं

3- पेड़ हमारी पृथ्वी पर कई वर्षों से मौजूद है और इसकी हजारों प्रजातियां हैं।

4- पेड़ मनुष्य और सभी शाकाहारी जानवरों के लिए ऑक्सीजन और भोजन का एक समृद्ध स्रोत हैं। 

5- जानवरों की छाया और आश्रय का आधार भी मुख्यतः विभिन्न पेड़ ही हैं। 

6- पेड़ कई वन्यजीव प्रजातियों का घर भी हैं।

7- पेड़-पौधों की छाल व पत्तियां कई प्रकार की उपयोगी औषधीय गुणों से युक्त होती है। 

8- पेड़ों के कारण ही वातावरण प्रदूषणमुक्त रहता है।

9- पेड़-पौधों की बदौलत भूमि के उपजाऊ कण सुरक्षित रहते हैं।

10- पेड़ पृथ्वी का प्राकृतिक संतुलन बनाये रखते है तथा प्रकृति को सुन्दर रूप प्रदान करते हैं।

10 Lines on Importance of Trees  In Hindi 

1- हमारे जीवन में पेड़-पौधे का बहुत महत्व हैं।

2- इनसे हमें शुद्ध ऑक्सीजन लेने में सहायता मिलती हैं।

3- यह जानवरों को भोजन और आश्रय प्रदान करते हैं।

4- हमें अनेक प्रकार के फल-फूल वृक्षों से ही प्राप्त होते हैं।

5- पशुओं को चरने के लिए घास और अन्य पत्तियां पौधों से ही मिलते हैं।

5- मासूम सुकोमल बालकों के पालने से लेकर बुढ़ापे की लाठी तक पेड़-पौधों से बनते हैं।

6- पेड़ों से हमें गर्मी के मौसम में ठंडी-ठंडी छाँव मिलती हैं।

Loading...

7- मृदा अपरदन को रोकने, वर्षा कराने आदि में भी वृक्षों द्वारा महत्वपूर्ण योगदान किया जाता है।

8- पेड़ हमारी प्रकृति को साफ़, सुन्दर, स्वच्छ और प्रदूषणमुक्त रखते हैं।

9- वास्तव में, वृक्ष हमारे पर्यावरण में मौजूद प्रकृति के सबसे विशिष्ट घटक हैं।

10- इस सृष्टि के सभी तरह के जीव मुख्य रूप से इंसान जीवित रहने के लिए इसपे ही निर्भर रहता हैं।

10 Lines on Importance & Uses of Trees in Hindi

1- पेड़-पौधे प्रकृति की एक ऐसी अनोखी वस्तु है जो हमारी धरती माँ को हरा-भरा रखते हैं और हमारे वातावरण को भी स्वच्छ व सुन्दर बनाते हैं।

2- इनकी वजह से ही मानव और दूसरे सभी प्रकार के जीव धरती पर जीवित हैं। ये प्राणवायु (ऑक्सीजन) के बहुत बड़े स्रोत हैं।

3- प्राणवायु के अलावा भी वृक्ष कई महत्वपूर्ण चीज़ों के स्रोत है, जिसे हम अपनी दैनिक जीवन में उपयोग करते है।

4- इसके कारण हमें ताजे फल-फूल प्राप्त होते हैं, जो हमारे साथ-साथ समस्त जीव-जंतुओं को स्वस्थ्य एवं जीवित रखने में महत्वपूर्ण योगदान देते हैं।

5- पशुओं को चरने के लिए घास और अन्य पत्तियां पौधों से ही मिलते हैं। हमें विभिन्न प्रकार के उपयोगी औषधीय पेड़ो से ही प्राप्त होते हैं।

6- जीवन के कठोर धरातल पर माँ के आंचल के सामान छाँव हमें पेड़ों से ही मिलता है। विशेषरूप से नवीन पेड़ पौधें तो हमारा भविष्य है। 

6- पेड़ जितना मनुष्य के लिए जरूरी हैं, उतना ही जमीन के लिए भी जरूरी हैं।पेड़-पौधे होने से मिट्टी अच्छी बनी रहती है, पानी साफ रहता है, हवा में भी ताजगी रहती है। संक्षेप में, पेड़ पौधों के होने से जमीन पर सभी निर्जीव चीजें अच्छी स्थिति में बनी रहती हैं। यानि प्रकृति का संतुलन बना रहता है।

7- वृक्ष से न सिर्फ पर्यावरणीय असंतुलन को ख़त्म करने में मदद मिलती है, बल्कि किसानों की आय में वृद्धि के साथ वन आधारित रोजगार के नये अवसर भी पैदा होते है।

8- इस तरह हमारा जीवन मुख्यतः पेड़-पौधों पर निर्भर है। पेड़-पौधों पृथ्वी और मनुष्य के लिए वरदान है। ये है तभी संसार के समस्त प्राणी जिंदा है।

9- पेड—पौधों के महत्व को स्वीकार करते हुए आज के युग में वृक्षों को हरा सोना कहा गया है। पुराणों के अनुसार, एक वृक्ष लगाने का उतना ही पूर्ण मिलता है जितना 10 गुणवान पुत्रों के सुयश से।

10- आज सबसे बड़ा प्रश्न यह है की हम पेड़ों के इसी महत्त्व को भूलते चले जा रहे हैं। पेड़ों की अंधाधुंध कटाई हो रही है, वन काटे जा रहे हैं और उनके स्थान पर मैदान बनाकर बस्तियां बसाई जा रही है। यह रुकना या कम होना चाहिए।

10 Lines on Trees in Hindi, for Class 4, 5,

निम्नलिखित पेड़ों पर निबंध दस लाइन की है। और यह निबंध क्लास 4 और 5 (10 Lines Essay on Importance of Trees in Hindi for Class 4 & 5) के विद्यार्थियों के लिए विशेष रूप से उपयोगी है।

1- पेड़ विश्व की एक प्रमुख प्राकृतिक संपदा हैं। ये संपूर्ण सृष्टि का पालन एवं पोषण करते हैं। इन्हें पेड़ों के झुण्ड, जंगल के रूप में भी जाना जाता है।

2- वृक्ष मानव के लिए ईश्वर की सबसे विशिष्ट भेंट है। ये अपनी नैसर्गिक छवि और मनमोहक छटा से सदैव ही हमें आकृष्ट करते हैं। इनकी मधुर छाया और चित्ताकर्षक हरीतिमा नेत्रों और हृदय दोनों को बरबस ही आनंद से ओतप्रोत करते हैं।

3- वृक्ष मुख्यतः पृथ्वी के वातावरण में ऑक्सीजन की पूर्ति करते हैं जिससे मानव स्वच्छ हवा में सांस ले पाता है। एक स्वस्थ और मध्यम आयु के वृक्ष प्रतिदिन 225.80 लीटर ऑक्सीजन का उत्पादन करते है। यही नहीं एक वृक्ष वातावरण से हर साल 5.89 किलोग्राम कार्बनडाई ऑक्साइड को भी सोखता हैं।

4- वृक्षों, पौधों, लताओं आदि वनस्पतियों से हमें फल, फूल, सब्जी, कंद-मूल, औषधियां, जड़ी-बूटी, मसाले, अनाज आदि सभी तो प्राप्त होते ही हैं साथ ही उक्त सभी वनस्पतियां हमारे जलवायु और पर्यावरण का संतुलन बनाए रखकर वर्षा, नदी, पहाड़ और समुद्र का संरक्षण भी करती हैं।

5- ऐसी मान्यता है कि प्राचीन समय में वनों की महत्ता को स्वीकार करते हुए हमारे ऋषि मुनि वनों में आश्रम बनाकर रहते थे। आश्रम में रहने वाले हमारे ऋषियों तथा मुनियों को वृक्षों और वनों के महत्त्व की अनुभूति थी। जिसके कारण उन्होंने इसे धर्म में सम्मिलित करके मनुष्य द्वारा इसके संरक्षण पर बल दिया।

6- हमारे पूर्वजों का हमारे ऊपर बहुत बड़ा अहसान है कि उन्होंने जीवन की प्रत्येक क्षण में प्रकृति को सबसे ऊपर रखा। यहाँ तक कि पुराने समय में जो भी तीज त्यौहार मनाये जाते थे वह किसी न किसी रूप में प्रकृति की आराधना थी। वर्तमान समय में मनुष्य अपने आने वाली पीढ़ी को उपहार में क्या प्रदान करेगा ये सोचनीय विषय है।

7- वनों के कटाव से ऑक्सीजन की कमी हो रही है। वनों के न होने से नदियों के द्वारा पर्वत – पठारों से मिट्टी का कटाव बढ़ रहा है। इसके कारण बाढ की विनाश लीला हर वर्ष बढ़ती जा रही है।

8- इससे दूरदराज के लोगों को तो हानि होती ही है, आस-पास की आबादी के अस्तित्व पर प्रश्नचिन्ह लग गया है।

9- आज पेड़ों के अंधाधुंध दोहन से जन-साधारण को सामान्य जीवन में अनेक प्राकृतिक आपदाओं का सामना करना पड़ रहा हैं।

10- अत: सभी प्रकार के प्राकृतिक आपदाओं से बचने व धरती को हरा-भरा रखने के लिए हमें अधिक-से-अधिक पेड़-पौधे लगाने चाहिए।

स्वच्छता और स्वास्थ्य पर निबंध

स्वच्छता पर महापुरुषों के सुविचार

स्वच्छता पर प्रेरक कहानी

 स्वच्छ भारत अभियान पर उत्कृष्ट भाषण

दोस्तों ! उम्मीद है उपर्युक्त ”पेड़ पर निबंध” (Short and Long Essay on Trees in Hindi)  छोटे और बड़े सभी लोगों के लिए उपयोगी साबित होगा। गर आपको हमारा यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो इसमें निरंतरता बनाये रखने में आप का सहयोग एवं उत्साहवर्धन अत्यंत आवश्यक है। आशा है कि आप हमारे इस प्रयास में सहयोगी होंगे साथ ही अपनी प्रतिक्रियाओं और सुझाओं से हमें अवगत अवश्य करायेंगे ताकि आपके बहुमूल्य सुझाओं के आधार पर इस निबंध को और अधिक सारगर्भित और उपयोगी बनाया जा सके।

और गर आपको इस कहानी या लेख में कोई त्रुटी नजर आयी हो या इससे संबंधित कोई सुझाव हो तो वो भी आमंत्रित हैं। आप अपने सुझाव को इस लिंक Facebook Page के जरिये भी हमसे साझा कर सकते है। और हाँ हमारा free email subscription जरुर ले ताकि मैं अपने future posts सीधे आपके inbox में भेज सकूं। धन्यवाद!

 FREE e – book “ पैसे का पेड़ कैसे लगाए ” [Click Here]

Babita Singh
Hello everyone! Welcome to Khayalrakhe.com. हमारे Blog पर हमेशा उच्च गुणवत्ता वाला पोस्ट लिखा जाता है जो मेरी और मेरी टीम के गहन अध्ययन और विचार के बाद हमारे पाठकों तक पहुँचाता है, जिससे यह Blog कई वर्षों से सभी वर्ग के पाठकों को प्रेरणा दे रहा है लेकिन हमारे लिए इस मुकाम तक पहुँचना कभी आसान नहीं था. इसके पीछे...Read more.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *