Bhashan Hindi Post

क्रिसमस पर भाषण – Christmas Speech In Hindi

Christmas Speech In Hindi 

Christmas Day Essay In Hindi - Speech
Christmas Day Essay In Hindi – Speech

क्रिसमस डे स्पीच (Christmas Day In Hindi)

नमस्कार ! ये तो सर्वविदित है कि भारत देश में कई धर्मों को मानने वाले लोग हैं। इन सबके अपने कुछ पारंपरिक, ऐतिहासिक और धार्मिक त्योहार भी है, जिससे यहाँ वर्षभर किसी न किसी धर्म का कोई न कोई त्यौहार राष्ट्रीय तथा अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर मनाया ही जाता रहता है। और जिनके पीछे एक समृद्ध संस्कृति तथा महात्म होता हैं। भारतीय पर्वों के इसी क्रम का एक बड़ा धार्मिक और महत्वपूर्ण पर्व क्रिसमस है।

क्रिसमस अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर सबसे ज्यादा मनाये जाने वाले त्योहारों में से भी एक है और यह उत्सव ईश्वरीय गुणों से युक्त यीशु के जन्म की खुशी में पूरे हर्षोल्लास के साथ 25 दिसम्बर को मनाया जाता है।यीशु धर्म के प्रवर्तक एवं महान समाज सुधारक थे। उन्होंने अपने जीवन काल में व्याप्त सामाजिक बुराइयों एवं धार्मिक आडंबरों का घोर विरोध किया तथा सत्य का मार्ग प्रशस्त करके भटकी हुई मानवता को नई दिशा दिखाएं। ईश्वरी गुणों से युक्त होते हुए भी उन्होंने कभी भी ईश्वर होने का दावा नहीं किया।

ईसा हमेशा अपने आप को ईश्वर का पुत्र मानते थे। समाज में व्याप्त बुराइयों के विरुद्ध संघर्ष करते थे।इसलिए धर्म की ओट में अंधविश्वासी जनता पर राज्य करने वाले धार्मिक पुजारी एवं तत्कालीन शासक गढ़ सभी उनसे नाराज थे। और ईसा मसीह को मारने की कोशिश किया करते थे। लेकिन ईसा मसीह उन लोगों के प्रति भगवान से क्षमा मांगते थे।

वास्तव में वे क्षमा की मूर्ति थे। विनीत क्षमाशील ईशा ने हमेशा अपने आप को ईश्वर की इच्छा से काम करने वाला घोषित किया। ईशा का कहना था कि पुत्र पिता की महिमा से पूर्ण होकर पृथ्वी पर मानव कल्याण के लिए आया है। वह अपने पिता के आदेश से ही कार्य करता है। लेकिन अफ़सोस, महात्मा ईसा का इस धराधाम पर जीवन बड़ा कष्टदायक रहा। उन्होंने अपनी सम्पूर्ण जीवनयात्रा में पल – पल कठिन संघर्ष किया । क्षण – क्षण दारुण यातनाएँ सहीं । जीवन के अंतिम पल के अंतिम संघर्ष में उन्होंने शूली की महायातना को लोकहित में स्वीकारा। अत: यह दिन प्रभु जीसस क्राइस्ट के बलिदान तथा त्याग की भी याद दिलाता है।

भारतीय समाज में एक खास त्योहार माना जाने वाला क्रिसमस त्योहार की सबसे ज्यादा प्रतिष्ठा ईसाई धर्म में है। है। सामान्यत: हम लोग इसे क्रिसमस डे या बड़ा दिन भी कहते हैं। इस महान उपलब्धि के पीछे ईसा-मसीह का त्याग एवं महान बलिदान है। उनकी उपस्तिथि एवं उनके अस्तित्व को बीते हुए कई वर्ष हो चुके है, परन्तु उनका अध्यात्मिक जीवन, संदेश और आशीष वचन बाइबल आज भी लाखों युवा व प्रौढ़ में सामान रूप से प्रेरणा का स्रोत है ।

बाइबल दिव्य ज्ञान से भरपूर एक शास्त्र ही नहीं, बल्कि प्रभु यीशु के विचार है । इसके अमृत वचन से मनुष्य के जीवन में साहस, हिम्मत, समता, सहजता, स्नेह, शान्ति और धर्म आदि सभी दैवी गुण विकसित हो उठते हैं, अधर्म और शोषण का मुकाबला करने का साहस आ जाता है । इसका इस्तेमाल कर हर कोई प्रभु के साथ अपना संबंध मधुर और व्यक्तिगत बना सकता है। और प्रत्येक विद्यार्थी इससे अपनी आवश्यकतानुसार व्यक्तिगत शिक्षा एवं आशीष प्राप्त कर सकता है।

पवित्र Bible के विषय में एक आश्चर्यचकित करने वाला तथ्य यह है कि परमेश्वर अपने अनंत उद्देश्य एवं महानतम योजना खुद के द्वारा पूरा नहीं करना चाहता था। अत: इस पवित्र पुस्तक के सृजन करने के लिए उसने मनुष्य को शामिल करने का निर्णय लिया। इस तरह Bible किसी एक व्यक्ति के द्वारा नहीं लिखी गयी है, बल्कि परमेश्वर की प्रेरणा से महान संतों ने इस पवित्र पुस्तक का सृजन किया है और यहीं इस योजना के भाग है। और हमें भी इन संतों के माध्यम से ईश्वर का संदेश जानना चाहिए। हमारी यह हार्दिक इच्छा भी है कि प्रत्येक विद्यार्थी इससे अपनी आवश्यकतानुसार व्यक्तिगत शिक्षा एवं जानकारी अवश्य प्राप्त करे।

मित्रों क्रिसमस त्योहार तथा बाइबिल ग्रंथ के विषय में लिखते समय अनजाने में हुई किसी भी त्रुटी के लिए क्षमा करें। इसे सरलता से क्रिसमस के आयोजनों में बोलने के उद्देश्य से प्रस्तुत करने का यह हमारा प्रथम प्रयास था। और गर अच्छा लगा हो तो इसमें निरंतरता बनाये रखने में आप का सहयोग एवं उत्साहवर्धन अत्यंत आवश्यक है। अत: आशा है कि आप हमारे इस प्रयास में सहयोगी होंगे साथ ही अपनी प्रतिक्रियाओं और सुझाओं से हमें अवगत करायेंगे ताकि आपके बहुमूल्य सुझाओं के आधार पर इस भाषण को और अधिक सारगर्भित और उपयोगी बनाया जा सके।

10 lines about Christmas Festival In Hindi Click Here
Bible Messages, Bible Verses in Hindi Click Here

आप अपने सुझाव को इस लिंक Facebook Page के जरिये भी हमसे साझा कर सकते है. और हाँ हमारा free email subscription जरुर ले ताकि मैं अपने future posts सीधे आपके inbox में भेज सकूं.

 FREE e – book “ पैसे का पेड़ कैसे लगाए ” [Click Here]

Babita Singh
Hello everyone! Welcome to Khayalrakhe.com. हमारे Blog पर हमेशा उच्च गुणवत्ता वाला पोस्ट लिखा जाता है जो मेरी और मेरी टीम के गहन अध्ययन और विचार के बाद हमारे पाठकों तक पहुँचाता है, जिससे यह Blog कई वर्षों से सभी वर्ग के पाठकों को प्रेरणा दे रहा है लेकिन हमारे लिए इस मुकाम तक पहुँचना कभी आसान नहीं था. इसके पीछे...Read more.

One thought on “क्रिसमस पर भाषण – Christmas Speech In Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *