Hindi Post

पापा के लिए कविता – 5 Best Emotional Poem on Papa In Hindi

 जीवन में पिता के महत्व पर प्रेरणादायक पोएम

Father Poem In Hindi
Father Poem In Hindi

**1**

पिता का हाथ थामे कुछ यूं बेफिक्र हो जाते हैं

दुनिया हमारी मुट्ठी में है,

यही हौसला पाते हैं !

कभी मीठा तो कभी कड़वा लगता है जिनका साया

लेकिन याद रहे कि जीवन धूप में बस

यही तो है एक ठंडी छाया !

जताता कभी नहीं जो प्यार और दुलार कभी कहकर

दूर से ही मुस्कुराता रहता वो बस

मन ही मन कुछ सोचकर!

मांवां ठंडियां छांवा कहता ये संसार सब से

मां रूपी वृक्ष को सींचता

वही तो है मौन रहकर न जाने कब से !

पिता वो आसमान है जो हर नन्हे परिंदे के हौसलों की उड़ान है !

वृक्ष भले कितने ही बड़े बन जाएं हम !

सूखने पर जीवन फिर इन्हीं जड़ों से ही पाएंगे हम !

इसलिए सींचते रहना सदा इन्हें अपने निश्छल प्यार से

वरना एक दिन खोकर इन्हे अकेले फंस जाओगे

जीवन की मझधार में !

**2**

चट्टानों सी हिम्मत और जज्बातों का तुफान लिए चलता है,
पूरा करने की जिद से ‘पिता’ दिल में बच्चों के अरमान लिए चलता है।

बिना उसके न इक पल भी गंवारा है, पिता ही साथी है, पिता ही सहारा है।
न मजबूरियाँ रोक सकीं न मुसीबतें ही रोक सकीं, आ गया ‘पिता’ जो बच्चों ने याद किया, उसे तो मीलों की दूरी भी न रोक सकी।

न रात दिखाई देती है न दिन दिखाई देते हैं,
‘पिता’ को तो बस परिवार के हालात दिखाई देते हैं।

परिवार के चेहरे पे ये जो मुस्कान हंसती है,
‘पिता’ ही है जिसमें सबकी जान बस्ती है।

***

हर दुःख हर दर्द को वो हंस कर झेल जाता है,
बच्चों पर मुसीबत आती है तो पितामौत से भी खेल जाता है।

कमर झुक जाती है बुढापे में उसकी सारी जवानी जिम्मेवारियों का बोझ ढोकर
खुशियों की ईमारत ड़ी कर देता है ‘पिता’ अपने लिए बुने हुए सपनों को खो कर।

बेमतलब सी इस दुनिया में वो ही हमारी शान है,
किसी शख्स के वजूद की ‘पिता’ही पहली पहचान है।

बिता देता है एक उम्र औलाद की हर आरजू पूरी करने में
उसी ‘पिता’ के कई सपने बुढापे में लावारिस हो जाते हैं।

**3**

बच्चों के भविष्य की चिंता करें,

उन्हें पिता कहा जाता है ।

अपने शरीर की तकलीफों को ना बताएं,

उन्हें पिता कहा जाता है।

घर मां चलाती है ,लेकिन जो घर बनाए ,

उन्हें पिता कहा जाता है ।

समाज एवं रिश्ते में सामंजस्य स्थापित करें ,

उन्हें पिता कहा जाता है ।

कंधे पर मेला दिखाएं ,

उन्हें पिता कहा जाता है ।

जो जीवन के सिद्धांतों को बताएं ,

उन्हें पिता कहा जाता है।

जो दुनिया से जाने के बाद हमेशा याद आते हैं ,

उन्हें पिता कहा जाता है।

 FREE e – book “ पैसे का पेड़ कैसे लगाए ” [Click Here]

**4**

सख्त सी आवाज में कहीं प्यार छिपा सा रहता है
उसकी रगों में हिम्मत का एक दरिया सा बहता है।

कितनी भी परेशानियां और मुसीबतें पड़ती हों उस पर
हंसा कर झेल जाता है ‘पिता’ किसी से कुछ न कहता है।

तोतली जुबान से निकला पहला शब्द उसे सारे जहाँ की खुशियाँ दे जाता है
बच्चों में ही उसे नजर आती है जिंदगी अपनी उनके लिए तो पिता अपनी जिंदगी दे जाता है।

उसके हाथ की लकीरें बिगड़ गयी अपने बच्चों की किस्मतें बनाते-बनाते
उसी पिता की आंखों में आज कई आकाशों के तारे चमक रहे थे।

**5**

पिता एक उम्मीद है, एक आस है परिवार की हिम्मत और उसका विश्वास है।
बाहर से बहुत सख्त अंदर से नर्म है पिता दिल में दफन कई गम हैं।

पिता संघर्ष की आंधियों में हौसलों की दीवार है।
परेशानियों से लड़ने को दो धारी तलवार है।

बचपन में खुश करने वाला खिलौना है नींद लगे तो पेट पर सुलाने वाला बिछौना है।
पिता जिम्मेवारियों से लदी गाड़ी का सारथी है। सबको बराबर का हक़ दिलाता यही एक महारथी है।

सपनों को पूरा करने में लगने वाली जान है इसी से तो माँ और बच्चों की पहचान है।
पिता ज़मीर है पिता जागीर है जिसके पास ये है वह सबसे अमीर है।

***

हृदय की सम्पूर्ण शक्तियों को केन्द्रित कर ईश्वर से प्रार्थना कर रही हूँ कि आप जीवन में नित नयी ऊँचाईयों को छूएं और ईश्वर आप पर सदैव असीम सुख की वर्षा करे! यही हार्दिक आकांक्षा है साथ ही आप गर इस तरह के और भी अनमोल वचन एवं सुविचार या स्टेटस को पढ़ने के इच्छुक हो तो नीचे दी गई हमारी सूची पर जाएं।

पिता व्हाट्सएप्प, एफबी स्टेटस Click Here
पिता पर अनमोल वचन व सुविचार Click Here
पिता पर कविता और शायरी Click Here
पितृ दिवस पर बधाई सन्देश Click Here
पिता को जन्मदिन की बधाई Click Here

उम्मीद है की आपको ये कविता का संग्रह पसंद आया होगा. इस Pita Poem in Hindi के साथ आप हमारे  Facebook Page को भी पसंद करे. और हाँ यदि future posts सीधे अपने inbox में पाना चाहते है तो इसके लिए आप हमारी email subscription भी ले सकते है जो बिलकुल मुफ्त है .

Babita Singh
Hello everyone! Welcome to Khayalrakhe.com. हमारे Blog पर हमेशा उच्च गुणवत्ता वाला पोस्ट लिखा जाता है जो मेरी और मेरी टीम के गहन अध्ययन और विचार के बाद हमारे पाठकों तक पहुँचाता है, जिससे यह Blog कई वर्षों से सभी वर्ग के पाठकों को प्रेरणा दे रहा है लेकिन हमारे लिए इस मुकाम तक पहुँचना कभी आसान नहीं था. इसके पीछे...Read more.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *