Hindi Post

Nasha Shayari – नशा शायरी

Nasha Shayari – नशा शायरी

Nasha Shayari in Hindi - StatusNasha Shayari in Hindi – Status

Nasha Shayari – नशा शायरी

(1)

नशा हम किया करते है, इलज़ाम शराब को दिया करते हैं
कसूर शराब का नहीं उनका है जिनका चेहरा हम जाम में तलाश किया करते हैं।

(2)

मयखाने में आऊंगा, मगर पिऊंगा नहीं साकी
ये शराब मेरा गम मिटाने की औकात नही रखती।

Nasha Status Attitude in Hindi - Shayari
Nasha Status Attitude in Hindi – Shayari

(3)

मयखाने सजे थे, जाम का था दौर,
जाम में क्या था, ये किसने किया गौर,
जाम में गम था मेरे अरमानो का,
और
सब कह रहे थे एक और एक और.

Nasha Attitude Shayari in Hindi, Status for Fb
Nasha Attitude Shayari in Hindi, Status for Fb

(4)

कुछ नशा तो आपकी बात का है;
कुछ नशा तो धीमी बरसात का है;
हमें आप यूँ ही शराबी ना कहिये;
इस दिल पर असर तो आप से मुलाकात का है।

Attitude Nasha Shayari in Hindi, Status for Fb
Attitude Nasha Shayari in Hindi, Status for Fb

(5)

तन्हाईयों के आलम की ना बात करो जनाब;
नहीं तो फिर बन उठेगा जाम और बदनाम होगी शराब।

(6)

हाथों में पत्थर नहीं, फिर भी चोट देती है…
ये जुबान भी अजीब है, अच्छे-अच्छों के घर तोड़ देती है।

Attitude Nasha Status in Hindi for Fb
Attitude Nasha Status in Hindi for Fb

(7)

कुछ तो शराफत सीख ले, ऐ “इश्क़” शराब से,
बोतल पे लिखा तो होता है, मैं जानलेवा हूँ।

(8)

नशा मोहब्बत का हो या, शराब का, होश दोनों में खो जाता है,
फर्क सिर्फ इतना है, शराब सुला देती है, और, मोहब्बत रुला देती है.

 Get FREE e – book “ पैसे का पेड़ कैसे लगाए ” [Click Here]

(9)

नशा पिला के गिराना तो सब को आता है.
मज़ा तो तब है कि गिरतों को थाम ले साक़ी.

(10)

जिगर की आग बुझे जिससे जल्द वो शय ला,
लगा के बर्फ़ में साक़ी, सुराही-ए-मय ला।

Nasha Poetry in Hindi for Fb & WhatsApp
Nasha Poetry in Hindi for Fb & WhatsApp

(11)

पीने से कर चुका था मैं तौबा मगर ‘जलील’
बादल का रंग देख के नीयत बदल गई…!

(12)

न गुल खिले हैं न उन से मिले न मय पी है.
अजीब रंग में अब के बहार गुज़री है.

(13)

ग़म इस कदर मिला कि घबरा के पी गए;
ख़ुशी थोड़ी सी मिली तो मिला के पी गए;
यूँ तो ना थे जन्म से पीने की आदत;
शराब को तनहा देखा तो तरस खा के पी गए।

(14)

“बोतल छुपा दो कफ़न में मेरे,
शमशान में पिया करूंगा,
जब खुदा मांगेगा हिसाब,
तो पैग बना कर दिया करूंगा”,

(15)

बड़ी भूल हुई अनजाने में,
ग़म छोड़ आये महखाने में;
खा कर ठोकर ज़माने की,
फिर लौट आये मयखाने में;
मुझे देख कर मेरे ग़म बोले,
बड़ी देर लगा दी आने में।

(16)

रात चुपचाप है, पर चाँद तो खामोश नहीं
कैसे कह दूं कि खुदा आज फ़रामोश नहीं
ऐसा डूबा हूँ तेरी आँखों की गहराई में
हाथ में जाम है पीने का मगर होश नहीं

(17)

ये तो सह लेंगे कि वादा न निभाये कोई
पास होकर न हमें पास बुलाये कोई सब सहेंगे,
ये सितम पर न सहा जायेगा चाँदनी रात हो
और याद न आये कोई।

*****************************************************************************************

 Get FREE e – book “ पैसे का पेड़ कैसे लगाए ” [Click Here]

*****************************************************************************************

यह भी पढ़े :

Nasha Shayari Status 2020 के इस  post के साथ हम चाहते है कि हमारे  Facebook Page को भी पसंद करे |और हाँ यदि future posts सीधे अपने inbox में पाना चाहते है तो इसके लिए आप हमारी email subscription भी ले सकते है जो बिलकुल मुफ्त है |

Babita Singh
Hello everyone! Welcome to Khayalrakhe.com. हमारे Blog पर हमेशा उच्च गुणवत्ता वाला पोस्ट लिखा जाता है जो मेरी और मेरी टीम के गहन अध्ययन और विचार के बाद हमारे पाठकों तक पहुँचाता है, जिससे यह Blog कई वर्षों से सभी वर्ग के पाठकों को प्रेरणा दे रहा है लेकिन हमारे लिए इस मुकाम तक पहुँचना कभी आसान नहीं था. इसके पीछे...Read more.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *