Hindi Post

रिपब्लिक डे शेरो शायरी – Republic Day Shayari

गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ

Best Republic Day Shayari in Hindi

गणतन्त्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ *******************************************

ना जियो धर्म के नाम पर ना मरो धर्म के नाम पर

इंसानियत ही है धर्म वतन का बस जियो वतन के नाम पर

आप सभी देशवासियों को गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं।

*********************************************

मैं इसका हनुमान हूँ, ये देश मेरा राम है,

छाती चीर के देख लो, अन्दर बैठा हिन्दुस्तान है.

जय हिंद जय भारत

*********************************************

कुछ नशा तिरंगे की आन का है,

कुछ नशा मातृभूमि की शान का है,

हम लहराएंगे हर जगह ये तिरंगा,

नशा ये हिंदुस्तान की शान का है.

समस्त देशवासियों को गणतंत्र दिवस की हार्दिक बधाई

*********************************************

आओ तिरंगा लहराये, आओ तिरंगा फहराये,

हमारा गणतंत्र दिवस है आया

आओ मिलकर जश्न मनाएं.

गणतंत्र दिवस की बधाई

*********************************************

आइये मिलकर लोकतंत्र का जश्न मनाएं

घर-घर तिरंगा लहराए

देश के प्रति सम्मान जताएं.

हैप्पी रिपब्लिक डे 2020.

*********************************************

भारत के गणतंत्र का सारे जग में है मान,

दशकों से खिल रही भारत की अद्भुत शान,

सब धर्मों को देकर मान, रच गया इतिहास,

इसलिए हर देशवासियों को इसमें है विशवास,

गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं.

*********************************************

Loading...

ये आन तिरंगा है, ये शान तिरंगा है,

अरमान तिरंगा है, अभिमान तिरंगा है.

गणतंत्र दिवस की बधाई.

*********************************************

मेरे हौंसले न तोड़ पाओगे तुम,

क्योंकि मेरी शहादत ही अब मेरा धर्म है।

सीमा पे डटकर खड़ा हूं, क्योंकि ये मेरा वतन है।

देश के शहीदों को नमन

*********************************************

आओ झुककर सलाम करे उनको,

जिनके हिस्से में ये मुकाम आता है,

खुशनसीब होते है वो लोग,

जिनका लहू इस देश के काम आता है।

*********************************************

ज़माने भर से मिलते हैं आशिक कई; मगर

वतन से खुबसूरत कोई सनम नहीं होता;

नोटों में भी लिपट कर, सोने में सिमटकर मरे है शासक कई;

मगर तिरंगे से खुबसूरत कोई कफ़न नहीं होता..!!

वंदेमातरम्

*********************************************

मैं भारत बरस का हरदम अमित सम्मान करता हूँ,

यहाँ की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हूँ,

मुझे चिंता नहीं है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की,

तिरंगा हो कफन मेरा, बस यही अरमान रखता हूँ।

वंदेमातरम् 

*********************************************

Desh Bhakti Shayari in Hindi

*********************************************

हाँ, मैं इस देश का वासी हूँ,

इस माटी का कर्ज चुकाऊंगा

जीने का दम रखता हूँ,

तो इसके लिए मरकर भी दिखलाऊंगा।। 

*********************************************

मिटा दिया उनका वजूद जो भी इनसे भिड़ा है

देश की रक्षा का संकल्प लिए,

जो जवान सरहद पर खड़ा है।

भारत के वीर जवानों को नमन

*********************************************

सीने में जुनून, आँखों में देशभक्ति, की चमक रखते हैं

दुश्मन की साँसें थम जाए, आवाज में वो धमक रखते हैं…!!

Loading...

जय हिन्द

*********************************************

शहीदों की चिताओं पर लगेंगे हर बरस मेले,

वतन पर मर मिटने वालों का बाकी यही निशां होगा।

वंदेमातरम् 

*********************************************

सोचता हूँ क्या दे पाउँगा जो मैंने पाया है इस देश से

क्या मैं कभी चुका पाउँगा जो पाया है इस देश से।

मुझे है फैलाना देश सम्मान की भावना;

शायद इस तरह नज़र मिला पाउँगा इस देश से।।

*********************************************

वह “शमा” जो काम आये अपने अंजुमन के लिए,

वह जज्बा जो कुर्बान हो जाए अपने वतन के लिए,

रखते हैं हम जूनून भी, जो मर मिटे अपने हिन्दुस्तान के लिए।

*********************************************

गांधी स्वप्न जब सत्य बना, देश तभी जब गणतन्त्र बना,

आज फिर से याद करे वह मेहनत, जो की थी वीरो ने और

भारत गणतन्त्र बना…

जय हिन्द

*********************************************

आजादी की कभी शाम नहीं होने देंगें;

शहीदों की क़ुरबानी बदनाम नहीं होने देंगें;

बची हो जो एक बूँद भी गरम लहू की;

तब तक भारत माता का आँचल नीलामी नहीं होने देंगें !

जय हिन्द, जय भारत

*********************************************

लिख रहा हूं मैं अंजाम जिसका कल आगाज आएगा,

मेरे लहू का हर एक कतरा इंकलाबलाएगा,

मैं रहूँ या ना रहूँ पर ये वादा है तुमसे मेरा कि,

मेरे बाद वतन पर मरने वालों का सैलाब आयेगा

*********************************************

मुझे न तन चाहिए, ना धन चाहिए बस अमन से भरा यह वतन चाहिए

जब तक जिन्दा रहूं इस मातृभूमि के लिए और मरुँ तो तिरंगा कफ़न चाहिए

जय हिन्द, जय भारत

*********************************************

करता हूँ भारत माता से गुजारिश कि तेरी भक्ति के सिवा कोई बंदगी न मिले

हर जनम मिले हिन्दुस्तान की पावन धरा पर या फिर कभी जिंदगी न मिले..!!

*********************************************

Desh Bhakti SMS, Shayari in Hindi
Desh Bhakti SMS, Shayari in Hindi

*********************************************

इंक़िलाब का नारा है, सबसे प्यारा हिंदुस्तान हमारा है

Loading...

दुनिया की शान है, भारत हमारा महान है

गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं

*********************************************

आन देश की शान देश की, देश की हम संतान हैं।

तीन रंगों से रंगा तिरंगा, अपनी ये पहचान हैं..!!

जय हिन्द, जय भारत

*********************************************

दिल से निकलेगी ना मर कर भी वतन की उल्फत

मेरी मिटटी से भी आएगी खुशबु वफाय-ए-वतन की नजाकत

गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं

*********************************************

अपनी आजादी को हम हरगिज मिटा सकते नहीं

सर कटा सकते हैं लेकिन सर झुका सकते नहीं

*********************************************

चलो फिर से खुद को जगाते हैं…

अनुशासन का डंडा फिर से घुमाते हैं…

सुनहरा रंग है गणतंत्र का शहीदों के लहू से…

ऐसे शहीदों को हम सर झुकाते हैं।

जय हिन्द

*********************************************

हम हाथ मिलाना भी जानते है… और उन्हें उखाड़ना भी…

हम गाँधी जी को भी पूजते है और चंद्रशेखर आजाद को भी ….

*********************************************

यही ख्वाहिश खुदा हर जन्म हिन्दुस्तान वतन देना,

अगर देना तो दिल में देशभक्ति का चलन देना,

न दे दोलत, न दे शोहरत, कोई शिकवा नही हमको,

झुका दूँ सर मैं दुश्मन का यही हिम्मत का घन देना,

अगर देना तो दिल में देशभक्ति का चलन देना.

*********************************************

अब तक जिसका खून न खौला हों;

वो खून नहीं, वो पानी है;

जो देश के काम ना आये;

वो बेकार जवानी है.

*********************************************

जो भरा नहीं है भावों से

बहती जिसमे रसधार नहीं,

वह हृदय नहीं है पत्थर है। 

जिसमें स्वदेश का प्यार नहीं।

*********************************************

जाति अलग, धर्म अलग पर सबका बस एक ही नारा है,

भारत माता की रक्षा करना लक्ष्य यही हमारा है।

जय हिन्द, जय भारत

*********************************************

जलते भी गये कहते भी गये आजादी के परवाने।

जीना तो उसी का जीना है, जो मरना वतन पर जाने।।

*********************************************

चलो फिर से आज वो नजारा याद कर लें।

शहीदों के दिल में थी जो ज्वाला वो याद कर लें।

उनके जोश व जज्बें को सलाम कर लें।

*********************************************

Republic Day Wishes In Hindi
Republic Day Wishes In Hindi

*********************************************

हर किसी के हिस्से में कहां ये मुकाम आता है

सलाम करो उस तिरंगे को जिसके हिस्से में ये मुकाम आता है,

किस्मत वाले हैं वो जिनका खून देश के काम आता है

गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं

*********************************************

लहू देकर तिरंगे की

बुलंदी को संवारा है;

फरिश्तें तुम वतन के हों;

तुम्हे सजदा हमारा है !!

*********************************************

देशभक्तों के बलिदान से, स्वतंत्र हुए हैं हम।

कोई पूछे कौन हो, तो गर्व से कहेंगे, भारतीय हैं हम…

गणतंत्र दिवस मुबारक हो!

*********************************************

अब तो मेरी कलम भी रो पड़ी है,

शहीदों की शहादत लिखते-लिखते

जय हिन्द, जय भारत

*********************************************

वतन से रिश्ता हमारा, ऐसे न तोड़ पाये कोई,

दिल हमारे एक है, एक है हमारी जान,

हिन्दुस्तान हमारा है, हम है इसकी शान।

*********************************************

लगी गूँजने दसों दिशायें वीरों के यशगान से।

हमें मिली आजादी वीर शहीदों के बलिदान से।

जय हिन्द, जय भारत

*********************************************

ना पूछो जमाने से क्या हमारी कहानी है;

हमारी पहचान तो सिर्फ ये है कि हम हिंदुस्तानी हैं।

*********************************************

भारत माता तेरी गाथा, सबसे ऊंची तेरी शान।

तेरे आगे शीश झुकाएं, दे तुझको हम सब सम्मान।

भारत माता की जय

*********************************************

भूख, गरीबी, लाचारी को इस धरती से आज मिटाएं,

भारत के भारतवासी को उसके सब अधिकार दिलाएं,

आओ सब मिलकर नए रूप में गणतंत्र मनाएं।

गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

*********************************************

हर पल हम सच्चे भारतीय बनकर,

देश के प्रति अपना फर्ज निभायेंगे।

जरूरत पड़ी तो लहू का एक-एक कतरा देकर

इस धरती का कर्ज चुकायेंगे।

*********************************************

जरा गौर से सुन ले दुश्मन,

तुम लोग कभी न बच पाओगे,

देख रूप रौद्र तुम सब,

नतमस्तक हो जाओगे।

*********************************************

सरहद तुम्हे पुकारे तुम्हे आना ही होगा,

कर्ज अपनी मिट्टी का चुकाना ही होगा,

दे करके कुर्बानी अपने जिस्मो – जां की,

तुम्हे मिटना भी होगा मिटाना भी होगा।

*********************************************

ये देश चैन से सोता है, वो पहरे पर जब होता है

जो आँख उठाता दुश्मन, तो अपनी जान वो खोता है।

उनकी वजह से आज सुरक्षित, ये सारी आवाम है,

दिल से मेरा सलाम है।

*********************************************

हमको कब बाधायें रोक सकी हैं

हम आजादी के परवानों की

तूफ़ान भी न रोक सका

हम लड़कर जीने वालों को

हम गिरेंगे, फिर उठ कर लड़ेंगे

जख्मो को खाये सीने पर

कब दीवारे भी रोक सकी हैं

शमा में जलने वाले परवानों को

*********************************************

धनुष उठा, प्रहार कर, तू सबसे पहला वार कर।

अग्नि – सी धधक – धधक, हिरन – सी सजग – सजग

सिंह – सी दहाड़ कर, शंख – सी पुकार कर।

*********************************************

दें सलामी इस तिरंगे को जिससे तेरी शान है।

मान हमेशा रखना इसका जब तक शरीर में जान है।

*********************************************

तहे दिल से मुबारक करते है,

चलो आज फिर उन आजादी के लम्हों को याद करते है;

कुर्बान हुए थे जो वीर जवान भारत देश के लिए,

चलो आज उनको प्रणाम करते हैं।

*********************************************

कुछ नशा इस तिरंगे की आन का है;

कुछ नशा इस मातृभूमि की शान का है;

हम लहराएंगे हर जगह ये तिरंगा;

नशा ये जो हिंदुस्तान की शान का है।

*********************************************

Desh Bhakti Shayari in Hindi
Desh Bhakti Shayari in Hindi

*********************************************

देशप्रेम का मूल्य “प्राण” है

देखें कौन चुकाता है

कौन सुमन सय्या को तंज कर,

कंटक पथ अपनाता है ?

*********************************************

ये बात हवाओं को बताये रखना;

रोशनी होगी चिरागों को जलाये रखना;

लहू देकर जिसकी हिफ़ाजत की हमने;

ऐसे तिरंगे को सदा दिल में बसाये रखना !

*********************************************

बंद करो ये तुम आपस में खेलना अब खून की होली,

उस माँ को याद करो जिसने खून से चुन्नर भिगोली,

इतना ही कहना काफी नहीं भारत हमारा मान है,

अपना फर्ज निभाओ देश कहे हम उसकी शान है।

*********************************************

नफरत बुरी है, न पालो इसे;

दिलो में खालिश है, निकालो इसे;

न मेरा, न तेरा, न इसका, न उसका;

ये सबका वतन है, सम्भालों इसे !

*********************************************

लड़ें वो वीर जवानो की तरह, ठंडा खून फौलाद हुआ,

मरते – मरते भी कई मार गिराए, तभी तो देश आज़ाद हुआ ।

जय हिन्द, जय भारत

*********************************************

कतरा-कतरा भी दिया वतन के वास्ते…

एक बूँद तक ना बचाई इस तन के वास्ते…

यूं तो मरते है लाखो लोग रोज,

पर मरना वो है दोस्तों जो जान जाये वतन के वास्ते…

जय हिन्द, जय भारत

*********************************************

अलग है भाषा, धरम, जात और प्रान्त, भेष परिवेश पर

सबका एक है गौरव – राष्ट्रध्वज तिरंगा श्रेष्ठ

*********************************************

अगर माटी के पुतले देह में ईमान जिन्दा हैं, तभी

इस देश की समृद्धि का अरमान जिन्दा हैं,

ना भाषण से है उम्मीदें ना वादों पर भरोसा हैं,

शहीदों की बदौलत मेरा हिन्दुस्तान जिन्दा है।

*********************************************

एक दिया उनके भी नाम का रख लो पूजा की थाली में,

जिनकी सांसे थम गई हैं भारत माँ की रखवाली में।

*********************************************

किसी को लगता हैं हिन्दू खतरे में हैं,

किसीको लगता मुसलमान ख़तरे में हैं,

धर्म का चश्मा उतार कर देखो यारों,

पता चलेगा हमारा हिंदुस्तान ख़तरे में हैं।

*********************************************

Republic Day Shayari in Hindi
Republic Day Shayari in Hindi

*********************************************

खूब बहती हैं अमन की गंगा बहने दो,

मत फैलाओ देश में दंगा रहने दो,

लाल हरे रंग में ना बाटों हमको…

मेरे छत पर एक तिरंगा रहने दो।

*********************************************

चाहता हूँ कोई नेक काम हो जाए…

मेरी हर साँस इस देश के नाम हो जाए…!

*********************************************

Related Post ( इन्हें भी जरुर पढ़े )

देशभक्ति कविता – देश-प्रेम के ऊपर प्रेरणादायक देशभक्ति कविता

गणतंत्र दिवस छोटा भाषण – प्रिंसिपल, टीचर्स एंड छोटे – बड़े स्टूडेंट्स के लिए।

26 जनवरी पर विस्तृत भाषण – Very Easy Bhashan on 26 January Hindi

गणतंत्र दिवस पर विस्तृत निबंध – Republic Day Essay in Hindi

गणतंत्र दिवस पर शानदार जोरदार देशभक्ति भाषण 

देशभक्ति नारे – 31 प्रसिद्ध देशभक्ति नारा और शक्तिशाली उद्धरण

Freedom Fighters Slogans – 51 स्वतंत्रता सेनानी नारे और सुविचार

देश भक्ति सुविचार और अनमोल वचन – Great Patriotic Quotes In Hindi

Republic Day Wishes In Hindi – Republic Day Shayari के इस प्रेरणादायी आर्टिकल के साथ हम चाहते है कि हमारे FacebookPage को भी पसंद करे | और हाँ यदि future posts सीधे अपने inbox में पाना चाहते है तो इसके लिए आप हमारी free email subscription भी ले सकते है जो बिलकुल मुफ्त है |

Loading...
Copy

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *