Hindi Post Kavita

स्वामी विवेकानंद पर दिल छू लेने वाली कविता : Poems on Swami Vivekananda in Hindi – Khayalrakhe.com

Swami Vivekananda Poems in Hindi 

Swami Vivekananda Poems in Hindi
Swami Vivekananda Poems in Hindi

स्वामी विवेकानंद पर कविता – Swami Vivekananda Motivational Poems in Hindi

एक युवा संन्यासी जिसने सोच बदल दी दुनिया की,

निर्धन-शोषित-पीड़ित के प्रति जिसके मन में करुणा थी।

वह नरेनसे बना विवेकानंदतभी इस जग ने जाना,

इनकी प्रतिभा, इनकी मेधा का सबने लोहा माना,

इन्होंने इस दुनिया को बतलाया – एक देश है भारत भी।

भाई – बहन का संबोधन जब इस जग ने पहली बार सुना,

अमरीका की धर्म-सभा का गूँज उठा कोना-कोना,

थमी नहीं तालियाँ देर तक, उसकी ऐसी धाक जमी।

गीता नहीं, देश के युवक ! पहले तुम फुटबाल चुनो,

मन में संवेदना जगाओ, तन से तुम चट्टान बनो,

वह कहते थे – ऐसे युवकों से ही इस देश सूरत बदलेगी।

लोट-पोट हो गए वे रेत में ज्यों अपने जहाज से उतरे,

अपनी माँ से लिपटे ऐसे जैसे की बालक बरसों से बिछड़ा,

उनकी पूजा और अर्चना थी बस भारत माता ही।

भारत की संस्कृति के ध्वज को जिसने यूँ फहराया हो,

जिसके कारण स्वाभिमान जन-मानस में गहराया हो,

आओ मिलजुल आज मनाएँ उनकी पावन जन्म तिथि।

– नरेश शांडिल्य

Swami Vivekananda Motivational Poems in Hindi – स्वामी विवेकानंद पर कविता के इस प्रेरणादायी कविता के साथ हम चाहते है कि हमारे  Facebook Page को भी पसंद करे | और हाँ यदि future posts सीधे अपने inbox में पाना चाहते है तो इसके लिए आप हमारी email subscription भी ले सकते है जो बिलकुल मुफ्त है |

Loading...
Copy

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *