Hindi Post विविध

एग्जाम में इस तरीके से पढ़ने और लिखने से मिलते हैं अच्छे अंक | Board Exam Preparation Tips In hindi – Exam me Padhne ke Tarike

Subject Wise Preparation Tips | Best ways to Study Math Science & Language in hindi |Board Exam Preparation Tips In hindi

Study Tips in Hindi
Study Tips in Hindi

Study Tips For Math & Science in Hindi – इम्तहान अथवा एग्जाम भारतीय शिक्षा पद्धति में हर साल छात्र शिक्षा मूल्यांकन हेतु ली जाने वाली एक बहुप्रचलित प्राचीन परम्परा है और इस परीक्षा को प्रत्येक छात्र को देना ही पड़ता हैं। इन परीक्षाओं में बैठने से पहले विद्यार्थी अपनी पूरी कोशिश करते हैं ताकि वे अधिक से अधिक अंक ला सकें। खासकर उन परीक्षाओं में जिनके नंबर अथवा मार्कशीट का सबसे अधिक महत्व है।

जी हाँ, स्टूडेंट्स मैं बात कर रही हूँ बोर्ड की परीक्षाओं की। इस परीक्षा को लेकर स्टूडेंट्स के भीतर अक्सर डर भी बैठा होता है क्योंकि ये हर विद्यार्थी के सुनहरे सपनों का द्वार होता है और इसके परिणाम पर ही उनका भविष्य निर्भर होता हैं। इसलिए हर विद्यार्थी चाहता है कि इस परीक्षा में उसे अधिकतम अंक मिल सकें। इसके लिए वह हर संभव प्रयास करता है। दिन रात लगातार अध्ययन, गेस पेपर, मॉडल पेपर आदि जितने भी उपलब्ध साधन हैं उनका प्रयोग करना तक वे नहीं छोड़ता ।

लेकिन फिर भी जब परीक्षा परिणाम आता है तो अधिकांश परीक्षार्थियों की शिकायत भरी प्रतिक्रिया रहती है। उनको लगता कि उन्होंने सभी प्रश्नों के सही उत्तर दिए थे परन्तु उस तुलना में उन्हें काफी कम अंक मिले हैं। जबकि ऐसी बात नहीं है। परीक्षक उत्तर पुस्तिका में लिखे पश्नोत्तर के हिसाब से ही अंक देते हैं न कम न ज्यादा। हाँ कभी – कभी किसी परीक्षक से अपवाद स्वरुप मानवीय भूल हो जाती है परन्तु इसकी सम्भावना भी नगण्य ही होती है।

दरअसल पढ़ने के वातावरण और तरीके का भी अंक स्कोर करने में महत्वपूर्ण योगदान होता है । और इसका सबसे महत्वपूर्ण पहलू है अच्छी पुस्तके तथा लगातार सुनियोजित ढंग से पढाई करते रहना। एक मेधावी छात्र भी अनियमित पढाई के बिना अधिकतम अंक प्राप्त नहीं कर सकता वही सामान्य बुद्धि का छात्र अगर हर रोज मेहनत करता है तो न सिर्फ वह अधिकतम अंक पाने का हकदार बन जाता है बल्कि  उसकी बुद्धि प्रखर होती जाती है।

हालांकि बोर्ड की परीक्षाएं शुरू होने में काफी कम दिन शेष रह गये हैं। परीक्षा में अधिकतम अंक कैसे लाए बेशक इस समय हर विद्यार्थी को यही चिंता सता रही होगी पर घबराने की आवश्यकता कतई नहीं है। अच्छे अंक लाना इतना कठिन भी नहीं है अगर सही नीति और सकारात्मक भावना के साथ प्रयास करें तो न सिर्फ आपकी घबराहट दूर होगी बल्कि निश्चित ही अच्छे अंक से टॉप कर सकेंगे । तो अगर आप भी कर रहे है बोर्ड एग्जाम की तैयारी, तो इन स्टडी टिप्स का रखे खास ख्याल ।

सबसे पहले तो पढ़ने वाला हर छात्र और छात्रा ये भलीभांति जान ले, कि 10वीं के विभिन्न विषयों की पढाई अलग – अलग नीति के तहत होनी चाहिए। इसकी शुरुआत हम गणित से करते हैं। यह एक ऐसा विषय है जिसमें आप शत-प्रतिशत अंक प्राप्त कर सकते है।

गणित (mathematics) पेपर की तैयारी – How to Study Math In Hindi 

गणित (mathematics) पर आधारित प्रश्नों (questions)को हल करते समय सूत्रों (formulas) की भूमिका अत्यंत महत्वपूर्ण होती है – खासकर क्षेत्रमिति (geometry), बीजगणित (algebra), और त्रिकोणमिति (trigonometry) से सम्बन्धित प्रश्नों में। इनसे संबंधित सूत्र (formula) अधिकाधिक अंक दिलवा सकते हैं क्योंकि इन क्षेत्रों से पूछे गए अधिकांश प्रश्नों (questions) को सीधे ही सूत्र (formula)के सहारे हल किया जा सकता है।

इसलिए छात्रों को इन गणितीय सूत्रों (mathematical formulas) को जरुर कंठस्थ कर लेना चाहिए। इसके विपरीत लाभ-हानि (profit-loss), बट्टा, प्रतिशत (percentage), शेयर-लाभांश (share-dividend), साधारण व चक्रवृद्धि ब्याज जैसे व्यावसायिक गणित से संबंधित सवालों (questions) को हल करने में नियमित अभ्यास ज्यादा सहायक होता है। 

कुछ प्रश्न ऐसे पूछे जाते हैं जिनकी प्रकृति बड़ी जटिल होती है। जैसे किसी वर्ग में रखे गए वृत्त (circle) का क्षेत्रफल निकालना या फिर दिये गए मूलधन का निश्चित समय में साधारण ब्याज और चक्रवृद्धि ब्याज का अंतर दिया हुआ हो तो ब्याज दर निकालना। ऐसे प्रश्नों (questions) को हल करते समय एक बात का ध्यान रखना चाहिए कि इसके उत्तर (answer) के कितने चरण (steps) हो सकते हैं। यह बात हमेशा ध्यान में रखना चाहिए कि गणित के प्रश्नों में अंक किसी तरह उत्तर निकालने से नहीं बल्कि हर सही स्टेप पर मिलता है। अत: सवाल के जबाब की प्रक्रिया सही होनी चाहिए।

विज्ञान के पेपर की तैयारी – How to Study Science In Hindi 

गणित की भांति विज्ञान की सही नीति से तैयारी करने पर अच्छे अंक प्राप्त किए जा सकते हैं। चूंकि परीक्षाएं नजदीक हैं इसलिए रसायन शास्त्र (chemistry) और भौतिकी (physics) में अच्छे अंक प्राप्त करने के लिए सामान्य सिद्धांतों व दोनों ही विषयों के महत्वपूर्ण तथा अनिवार्य सूत्रों को चिन्हित कर उसे बार-बार पढ़ना लाभदायक साबित हो सकता है। खास कर रसायन शास्त्र (chemistry) में केमिकल बॉडिंग और महत्वपूर्ण केमिकल रिएक्शन को याद कर लेना चाहिए।

इसके अलावा इस कक्षा के विद्यार्थियों को मेरी एक सलाह है कि वे भौतिक (physics) व रसायनशास्त्र (chemistry) दोनों प्रश्नपत्रों को हल करते समय न्यूमेरिकल प्रश्नों को सबसे पहले हल करें क्योंकि इसमें यथोचित 100% अंक लाया जा सकता है। जीव विज्ञान (biology) के पिछले दो – तीन सालों में पूछे प्रश्नों के आधार पर संभावित प्रश्नों की प्रकृति निर्धारित कर उस पर विशेष ध्यान देना चाहिए।

भाषा संबंधी विषयों की तैयारी – How to Study Language In Hindi

भाषा कला संकाय का महत्वपूर्ण विषय है इसलिए इसकी अनदेखी नहीं की जा सकती लेकिन छात्रों को सबसे ज्यादा शिकायत इसी विषय से होती हैं ।

भाषा के पेपर में आमतौर पर कहानियां, कविताएँ, जीवनी, नाटक, उपन्यास आदि मुख्य होते हैं । इसके साथ ही गद्य और पद्य से व्याख्या करने के सवाल भी परीक्षा में पूछे जाते है । अक्सर छात्र गद्य और पद्य की बारीकी को नहीं समझ पाते इसलिए जरुरी है रेगुलर क्लास अटेंड करें । साथ ही भाषा संबंधी विषयों, हिन्दी या संस्कृत व अंग्रेजी में अच्छे अंक प्राप्त करने हेतु पिछले साल पूछे गए प्रश्नों के आधार पर सेलेक्टिव हुआ जा सकता है। इन विषयों के प्रश्नों के उत्तर लिखते समय भाषाई कसावट पर जोर देना चाहिए खास कर दिए गए उद्धरणों का भावार्थ लिखने या विवेचना करते समय व्याकरण वाले खंड पर विशेष ध्यान देना चाहिए क्योंकि यह हाईस्कोरिंग होता है।

सामान्य विज्ञान के पेपर की तैयारी – How to Study General Science In Hindi

सामान्य विज्ञान के अंतर्गत चार विषय हैं इतिहास (history), नागरिक शास्त्र (civics), अर्थशास्त्र (economics) व भूगोल (geography) । खास बात ये हैं कि इन विषयों की प्रकृति विवेचनात्मक होती है और भाषा के बाद सबसे ज्यादा शिकायत छात्रों को इसी वर्ग के प्रति होती है और उन्हें कहते पाया जाता है इसमें नंबर अच्छे नहीं आते ।

इन विषयों में परीक्षा में पहले पूरे पाठ्यक्रम विषय का रिवीजन कठिन प्रतीत होता है। इसलिए मुख्य बिंदुओं को नोट कर ले और उसे बार – बार दुहराएं। जैसे अगर 1857 के विद्रोह के कारणों के बारे में पूछा जाए और आपको मालूम हो, कि इसके पीछे कृषक असंतोष, वेतन विसंगति, चर्बी वाला मामला था तो उत्तर लिखते समय इन बिंदुओं पर जरुर विश्लेषण करें। क्योंकि कई बार स्टूडेंट्स जो उत्तर लिखते हैं तो उसमे तारतम्य नहीं होता । इससे भी अंक कट जाते है ।

अधिकतम अंक प्राप्त करने के लिए मानचित्र अध्ययन पर भी जरुर ध्यान दें। दिए गए मानचित्र पर स्थानों को दर्शाना और मानचित्र पर नदियों को पहचानने का अभ्यास किया जाए तो उसकी मदद से आसपास के स्थानों को सही – सही चिन्हित किया जा सकता है। कई बार परीक्षार्थी मानचित्र बनाना छोड़ देते हैं या फिर इसमें काफी समय लगाते है । दोनों ही प्रवृति गलत है । मानचित्र बनाना बेहद जरूरी है परन्तु इसकी सुंदरता के अंक नहीं मिलते है बल्कि स्कैच एव लवलिंग के अंक मिलते है ।

अभी आपके के पास समय है। ठोस व निश्चित ज्ञान के लिए उचित पुस्तकों से मन लगाकर पढाई करें। यदि आप उपर्युक्त बातों को ध्यान में रखकर पढाई करेंगें तो निश्चित ही कम समय में एग्जाम की तैयारी  होगी और आप अच्छे अंक से टॉप भी कर सकते है।

Also Read :

परीक्षा की तैयारी के लिए बेस्ट Study Tips

परीक्षा की तैयारी करें ऐसे, सफलता आपके कदम अवश्य चूमेगी 

Board Exam के लिए Perfect Time Table

कम समय में बोर्ड परीक्षा की तैयारी कैसे करे

How to Study in Board Exam Best Tips in Hindi – अध्ययन करने  के सबसे अच्छे तरीके के इस प्रेरणादायी लेख के साथ हम चाहते है कि हमारे  Facebook Page को भी पसंद करे | और हाँ यदि future posts सीधे अपने inbox में पाना चाहते है तो इसके लिए आप हमारी  email subscription भी ले सकते है जो बिलकुल मुफ्त है |

Babita Singh
Hello everyone! I am Babita Singh. Welcome to my blog Khayalrakhe.com. हमारे Blog पर हमेशा उच्च गुणवत्ता वाला पोस्ट लिखा जाता है जो मेरी और मेरी टीम के गहन अध्ययन और विचार के बाद हमारे पाठकों तक पहुँचाता है, जिससे यह Blog कई वर्षों से सभी वर्ग के पाठकों को प्रेरणा दे रहा है लेकिन मेरे लिए इस मुकाम तक पहुँचना कभी आसान नहीं था. इसके पीछे...Read more.
https://www.khayalrakhe.com/

5 thoughts on “एग्जाम में इस तरीके से पढ़ने और लिखने से मिलते हैं अच्छे अंक | Board Exam Preparation Tips In hindi – Exam me Padhne ke Tarike

  1. यह सवाल उनके लिए है बहुत ही अच्छा है जो सिर्फ बोर्ड ही नहीं बल्कि कोई भी परीक्षा दे रहे हों और उन्हें सफलता नहीं मिल रही हो|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *