Health Hindi Post

बच्चों में UTI (यूरिनरी ट्रैक इन्फेक्शन) – Urine infection symptoms Causes & Treatment in Hindi

यूरिन में समस्या / संक्रमण, कारण लक्षण व उपचार – Urine Infection and Treatment in Hindi

Urine infection in hindi
Urine infection in hindi

UTI को साधारण बोलचाल की भाषा में मूत्र मार्ग का संक्रमण कहा जाता है ज्यादातर पुरुष, महिला को कभी न कभी इस रोग से मुकाबला करना पड़ता है लेकिन यूरिन इन्फेक्शन बच्चों में होना सामान्य है |

बच्चों के यूटीआई के बारे में जानने से पहले यह जानना जरुरी है कि यूरिनरी ट्रैक है क्या ? दरअसल यूरिनरी ट्रैक छह प्रमुख अंगों – दो किडनी,  दो यूरेटर ब्लैडर और यूरिथ्रा (urethra) से मिलकर बना होता है |

किडनी हमारे शरीर के रक्त को साफ करके उसमें उपलब्ध अनावश्यक तत्वों को हटाकर यूरिन के जरिए बाहर निकालने का काम करता है | सबसे पहले किडनी खून की सफाई करता है और सफ़ाई के बाद जो गंदा तरल पदार्थ निकलता है वह यूरेटर के रास्ते “ब्लैडर” में जमा हो जाता है | जब ब्लैडर पूरी तरह भर जाता है तब यूरिथ्रा पर दबाव पड़ता है | इसी वजह से टॉयलेट जाने की जरूरत महसूस होती है कभी – कभी बच्चों को इसी यूरिनरी ट्रैक में इन्फेक्शन हो जाता है, जिसकी वजह से उन्हें काफ़ी तकलीफ होती है |

यूरिन इन्फेक्शन के प्रमुख लक्षण

अब सवाल यह उठता है कि किसी बच्चे को UTI की समस्या है इस बात का पता करने के लिए क्या  किया जा सकता है क्योंकि बच्चे छोटे होते है, जिसके कारण वे इस समस्या के बारे में नहीं बता पाते | इसलिए आपके लिए यह बहुत जरुरी है कि उसके लक्षण पहचानें | यूटीआई के प्रमुख लक्षण इस प्रकार है :

Loading...

– यूरिन में जलन

– प्राइवेट पार्ट्स में खुजली

– बार – बार टॉयलेट जाना

– थोड़ा – थोड़ा यूरिन डिस्चार्ज होना और इस दौरान दर्द महसूस होना

– यूरिन से बदबू आना और यूरिन का रंग पीला होना

– ज्यादा इन्फेक्शन की स्थिति में, यूरिन के साथ ब्लड आना

– कपकपाहट के साथ बुखार

– भूख न लगना

– कमज़ोरी और थकान महसूस होना

– बच्चे का कद और वजन न बढ़ना

– एक वर्ष से कम उम्र का बच्चा अगर यूरिन डिस्चार्ज के समय रोए तो उसे यूटीआई इन्फेक्शन की आशंका हो सकती है |

यूरिन इन्फेक्शन के क्या है कारण

– किसी भी बच्चे को यूटीआई हो सकता है लेकिन लड़कों की तुलना में लड़कियों में यह समस्या ज्यादा होती है |

– खान-पान में गड़बड़ी की वजह से अगर बच्चे के खून में इन्फेक्शन हो तो उसकी वजह से ही उसे यूटीआई हो जाता है |

– यूरिनरी ट्रैक में स्टोन की वजह से भी यह समस्या हो सकती है |

– यूरिनरी ट्रैक की संरचना में जन्मजात गड़बड़ी की वजह से भी बच्चों को यूटीआई हो सकता है |

– गर्मी के मौसम में शरीर में पानी की कमी की वजह से यह समस्या ज्यादा होती है |

यूरिन इन्फेक्शन से बचाव के उपाय

– बच्चों की, खास तौर से लड़कियों की सफ़ाई का पूरा ध्यान रखें |

– टॉयलेट हमेशा साफ़ – सुथरा रखें |

– बच्चों के खानपान की स्वच्छता का भी ख्याल रखे क्योंकि खुले में बिकने वाली चीजें खाने से अगर बच्चे के खून में इन्फेक्शन हो तो इससे उसके यूरिन में भी इन्फेक्शन आ जाता है |

– जब कभी बच्चे को ऐसी समस्या हो तो आप बच्चे को ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पानी और तरल पदार्थ पीने को दें |

– बच्चों को हमेशा कॉटन इनरवेयर पहनाए |

– अगर ऊपर बताए गए लक्षणों में से कोई भी लक्षण बच्चे में दिखाई दे तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लें क्योंकि इन्फेक्शन ज्यादा बढ़ जाने पर यह किडनी को भी नुकसान पहुंचा सकता है |

यूरिन इन्फेक्शन  (Urine infection) के इस  उपयोगी लेख के साथ हम चाहते है कि हमारे  Facebook Page को भी पसंद करे | और हाँ यदि future posts सीधे अपने inbox में पाना चाहते है तो इसके लिए आप हमारी email subscription भी ले सकते है जो बिलकुल मुफ्त है |

Loading...

CLICK HERE : Amazon Today's Deal of the Day - जल्दी करे मौका कहीं छूट न जाए

2 thoughts on “बच्चों में UTI (यूरिनरी ट्रैक इन्फेक्शन) – Urine infection symptoms Causes & Treatment in Hindi”

  1. यूरिन इंफेक्शन पर बहुत ही उपयोगी जानकारीयुक्त आलेख। धन्यवाद, बबिता जी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *