Good Morning Poem in Hindi
Hindi Post Kavita

सुबह पर दो प्रेरणादायक कविता- Motivational Good Morning Poem In Hindi

Motivational Good Morning Poem In Hindi (सुहानी सुबह के उत्साह से ओतप्रोत दो प्रेरक और उद्बोधक कविता)

Subah Par Kavita - Poem

Subah Par Kavita – दोस्तों ! जैसी भी परिस्थिति हो, कभी हँसकर, कभी मुस्कुराकर तो कभी इठलाकर सूरज अपनी लालिमा युक्त किरणों को पूरी पृथ्वी पर विखेर कर सुबह का स्वागत करता है। इसी प्रकार से हमें भी हर हालात में सकारात्मक एवं स्वावलंबी बनें रहकर अपने इस मानव जीवन का तहेदिल से स्वागत करना चाहिए और अपने इंसान होने का फर्ज निभा कर इसकी शोभा बढ़ानी चाहिए। यहाँ उपलब्ध कविता का प्रत्येक शब्द भी आपको बेहतर प्रेरणादायक, प्रेरणा प्रदान करने वाला है।

एक motivational ब्लॉग होने के कारण मेरा पूर्ण प्रयास रहता है कि जो भी प्रेरणादायक कविता यहाँ पर लिखा जाये वो आपके के लिए ज्ञान और शिक्षा का अच्छा स्रोत हो। आशा करती हूँ ये कविताएँ आपके द्वारा सराही जाएगी।

Subah Par Kavita – “उठो प्रभात हो गया”

दिगन्त में जगी प्रभा, उठो प्रभात हो गया

व्यतीत यामिनी हुई, तमिश्र – तोम खो गया

उठो प्रमाद छोड़, स्फूर्ति का अमन्द स्त्रोत ले

तरो जगत्पयोधि को, अजेय शौर्य-पोत ले

बढ़ो सपूत देश के, रुको न वीर केशरी

चलो प्रगल्भ चाल शौर्य – स्वाभिमान से भरी

विशाल शैल – श्रंग भी, अबाध लांघते चलो

अनन्त अंतरिक्ष के, रहस्य आंकते चलो

असंख्य उग्र आंधियां, चलो समेट श्वास में

ग्रसे रहो अराति को, प्रचण्ड नागपाश में

अजेय क्रांतिवीर हो, अमोघ क्रांति को वरो

सरोष शंखनाद से, विदीर्ण व्योम को करो

पयोद की घटा बनो, अनीति – ज्वाल – जाल को

चुनौतियां दिए चलो, सदा कराल काल को

बनो स्वयं – प्रकाश दिव्य ज्योति के प्रसार को

करो स्व-रश्मि-राशी से, विदीर्ण अंधकार को

अमर्त्य लोक – बंधु ! लोक को नया विहान दो

उठो विषण्ण विश्व को, नवीन सामगान दो

Loading...

सुनो अमर्ष त्याग दिन- हीन की कराह को

समीर दो स्वदेश के, विकास के प्रवाह को

स्वदेश के लिए जियो, स्वदेश के लिए मरो

वरो सुकीर्ति – श्रेय जो, स्वदेश के लिए वरो

चुनौतियां दिए चलो, चुनौतियां लिए चलो

स्वदेश की ध्वजा उदग्र, व्योम में किये चलो

– श्री रामरज शर्मा

 कविता: जाग उठ, जग को जगा दे 

क्यों मनुज सोया पड़ा है,

जाग उठ, जग को जगा दे

जाग उठ, स्वागत उषा का

कर, अरे अब मुस्करा दे

सो रहा है तू अभी तक,

हो रहा है भोर अब तो

जाग उठ, सुन गीत कवि का,

तू जगत में भोर ला दे

– श्री रामरज शर्मा

Suprabhat Suvichar Status for Whatsapp in Hindi!
Motivational Whatsapp Status in Hindi!
Best GM Shayari !
Beautiful Quotes in Hindi!
Good Morning DP (Display Pictures) for Whatsapp
morning greetings quotes
Good Morning Poem In Hindi.
सुप्रभात पर दो बेहद रोमांचक कविता
Good Morning Wishes in Hindi
Achhe vichar in Hindi
Top New Latest Daily Status in Hindi
Anmol Vachan Quotes In Hindi
Top Best Good Morning Suvichar
Thoughts of the day in Hindi

आशा करती हूँ कि उपरोक्त कविता आपको सकारात्मक उर्जा से भरेगा। गर आपको हमारा यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो इसमें निरंतरता बनाये रखने में आप का सहयोग एवं उत्साहवर्धन अत्यंत आवश्यक है। आशा है कि आप हमारे इस प्रयास में सहयोगी होंगे साथ ही अपनी प्रतिक्रियाओं और सुझाओं से हमें अवगत करायेंगे ताकि आपके बहुमूल्य सुझाओं के आधार पर इस सुप्रभात कविता को और अधिक सारगर्भित और उपयोगी बनाया जा सके।

अगर आपके पास इससे संबंधित कोई सुझाव हो तो वो भी आमंत्रित हैं। आप अपने सुझाव को इस लिंक Facebook Page के जरिये भी हमसे साझा कर सकते है. और हाँ हमारा free email subscription जरुर ले ताकि मैं अपने future posts सीधे आपके inbox में भेज सकूं.

 FREE e – book “ पैसे का पेड़ कैसे लगाए ” [Click Here]

Babita Singh
Hello everyone! Welcome to Khayalrakhe.com. हमारे Blog पर हमेशा उच्च गुणवत्ता वाला पोस्ट लिखा जाता है जो मेरी और मेरी टीम के गहन अध्ययन और विचार के बाद हमारे पाठकों तक पहुँचाता है, जिससे यह Blog कई वर्षों से सभी वर्ग के पाठकों को प्रेरणा दे रहा है लेकिन हमारे लिए इस मुकाम तक पहुँचना कभी आसान नहीं था. इसके पीछे...Read more.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *