Hindi Post Kavita

स्वच्छता पर कविता (Poem on Cleanliness In Hindi)

स्वच्छता ( साफ़ – सफाई) पर कविता (Hindi Poem on Cleanliness for Clean India Mission)

Cleanliness Poem in Hindi
Cleanliness Poem in Hindi

स्वच्छता पर हिंदी कविता (Hindi Poem on Cleanliness for Clean India)

प्रधानमंत्री जी ने लिया संकल्प,

स्वच्छ रहेंगे, स्वस्थ रहेंगे |

चलाया उन्होंने स्वच्छता अभियान,

मेरा भारत महान |

लेते हैं यह प्रण, गॉव शहर को

स्वच्छ रखेंगे हम |

हर ओर रखेंगे साफ – सफाई का ध्यान,

तभी तो पूरा होगा स्वच्छता अभियान |

स्वच्छता से बीमारी को भगायें दूर,

होंगे हम स्वच्छ जरुर !

साफ – सफाई का बजा डंका चहु ओर,

बढ़ रहा स्वच्छता अभियान जोर – शोर |

नदी, नाला, तालाब होगा साफ एक सामान,

तभी तो होगा मेरा भारत महान |

प्रधानमंत्री जी का संकल्प पूरा करने

की ली है ठान,

बनेगा मेरा भारत महान |

गांधी जी का सपना,

स्वच्छ भारत हो अपना |

***

Loading...

स्वच्छ वातावरण पर कविता (Hindi Poem on Cleanless for Clean Environment)

***

साफ सफाई का सपना था, बापू जी के ध्यान में |

आओ मिल सब हाथ बटाये, स्वच्छ भारत अभियान में || 

घर आँगन की करे सफाई, साफ दिखे हर कोना,

इधर उधर मत फेको कूड़ा दिल में यही सजोना |

करो इकठ्ठा एक साथ सब डालो कूड़ेदान में,

आओ मिल सब हाथ बटाये, स्वच्छ भारत अभियान में ||

गलियों और पार्को में भी साफ सफाई रखना,

निज आँगन की तरह सदा ही इनको आप समझना |

खुद भी टहलो बच्चे खेले इसी बीच दरम्यान में,

आओ मिल सब हाथ बटाये, स्वच्छ भारत अभियान में ||

हर घर में शौचालय होवे खुले शौच नहीं जाना |

बहन बेटियों को भी हरदम बात यही बतलाना |

आदत यही बना दो मिलकर बूढों और जवान में,

आओ मिल सब हाथ बटाये, स्वच्छ भारत अभियान में ||

अस्पताल हो या कार्यालय विद्द्यालय, सचिवालय,

साफ सफाई हरदम रखे समझे इन्हें शिवालय,

देख इसे मेहमान भी समझे आये देश महान में,

आओ मिल सब हाथ बटाये, स्वच्छ भारत अभियान में ||

***

सफाई के महत्व पर कविता (Hindi Poem on Clean Environment / Cleanless)

***

कोई गली बहार रहा, कोई पार्क की शान बना |

भारत को स्वच्छ बनाने का यह सुंदर अभियान बना ||

कूड़ा न कभी हम यूँ , सड़क पर जानकार फेंके |

आदत यूँ सफाई की, जरा पहचान कर देखे |

मिशन ये स्वच्छ भारत का, बढाओ साथ में मिलकर |

सफाई तुम उधर देखो, सफाई हम इधर देखे ||

सफाई व स्वच्छता के प्रति जागरूक करता दो का पहाड़ा (Poem on swachhta in Hindi )

दो एकम दो । साबुन से हाथ धो

दो दूने चार । साफ हो घर द्वार

दो तीने छ: । स्वच्छता कि जय

दो चौके आठ। नाखूनों को काट

दो पंजे दस। दांतों में हो ब्रश

दो छके बारह। शौचालय हो प्यारा

दो सत्ते चौदह। एक लगाओ पौधा

दो अठ्ठे सोलह। साफ़ रखो चोला

दो नवा अठ्ठारह। स्वच्छ शहर हो हमारा

दो दसम बीस। डॉक्टर की बचे फीस।

 

स्वच्छता और स्वास्थ्य पर निबंध Click Here

स्वच्छता अभियान पर कविता, Quotes और नारे Click Here

स्वच्छता पर प्रेरक कहानी Click Here

 स्वच्छ भारत अभियान पर उत्कृष्ट भाषण Click Here

प्रिय पाठकों आप हमें अपना सुझाव और अनुभव बताते हैं तो हमारी टीम को बेहद ख़ुशी होती है। क्योंकि इस ब्लॉग के आधार आप हैं। आशा है कि यहाँ दी गई जानकारियां आपको पसंद आयेगी होगी, लेकिन ये हमें तभी मालूम होगा जब हमें आप कमेंट्स कर बताएंगें। आप अपने सुझाव को इस लिंक Facebook Page के जरिये भी हमसे साझा कर सकते है। और हाँ हमारा free email subscription जरुर ले ताकि मैं अपने future posts सीधे आपके inbox में भेज सकूं। धन्यवाद!

 FREE e – book “ पैसे का पेड़ कैसे लगाए ” [Click Here]

Babita Singh
Hello everyone! Welcome to Khayalrakhe.com. हमारे Blog पर हमेशा उच्च गुणवत्ता वाला पोस्ट लिखा जाता है जो मेरी और मेरी टीम के गहन अध्ययन और विचार के बाद हमारे पाठकों तक पहुँचाता है, जिससे यह Blog कई वर्षों से सभी वर्ग के पाठकों को प्रेरणा दे रहा है लेकिन हमारे लिए इस मुकाम तक पहुँचना कभी आसान नहीं था. इसके पीछे...Read more.

6 thoughts on “स्वच्छता पर कविता (Poem on Cleanliness In Hindi)

Leave a Reply

Your email address will not be published.