Republic Day Speech
Bhashan Hindi Post Nibandh Aur Bhashan

गणतंत्र दिवस पर भाषण (26 January Republic Day Speech in Hindi Language)

गणतंत्र दिवस पर भाषण – Republic Day Speech In Hindi 

Republic Day Speech In Hindi

वंदे मातरम ! इस सभागार में उपस्थित सभी गणमान्य अथिति, शिक्षकगण और प्यारे साथियों को मेरा नमस्कार। जैसा कि आप सबको ज्ञात है, आज हम यहाँ सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए स्वतंत्र भारत के 72वे गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में राष्ट्र को नमन करने के लिए एकत्रित हुए है।

हमारे लिए यह परम गौरव की बात है कि ऐसे राष्ट्रीय पर्व सचमुच हमें याद दिलाते हैं कि हम सब विश्व के सबसे बड़े प्रजातंत्र देश में एक है और स्वतंत्र है। गणतंत्र प्रजातंत्र का ही एक स्वरुप है। आप में कोई ऐसा है जो प्रजातंत्र में नहीं रहना चाहता ? खुद प्रजातंत्र में रहने के साथ आप सभी यह भी अवश्य चाहते होंगे कि आपका परिवार, सगे सम्बन्धी, परिचित, देश, समाज सभी प्रजातंत्र में रहें तो अच्छा है। 

हमारे देश के गणतंत्र ने भी इसी प्रेम, समानता और भाईचारे को अपनाया है। गणतंत्र अथवा प्रजातंत्र की परिभाषा है जिसमें राजकीय सुविधाओं के लिए सब सामान हों। और यही वह सिद्धांत है जिसे गणतंत्र कहते है। इस सिद्धांत को आसानी से ग्रहण करने के लिए ही बाबा साहब डॉ. भीमराव अम्बेडकर की अध्यक्षता में सात सदस्यों की कमेटी ने सन 1950 की 26 जनवरी को संविधान के रूप में एक ऐसी जबरदस्त ताकत दी जो हमें मजबूर करती है कि हम मिल – जुल कर रहे और मिल – जुल ही खाना खाए। इसके अलावा अन्यत्र कोई रास्ता नहीं है। वास्तव में हम सब के लिए यह एक गौरवशाली और महत्वपूर्ण दिन है ।

आज ही वह महत्वपूर्ण दिवस है जब हमें नया और अपना संविधान मिला था। इस दिन की अपनी एक गौरवमयी गाथा और महत्व है । दरअसल हमारे देश की सदियों की परतंत्रता की बेडियां तो वास्तव में 15 अगस्त, 1947 को टूटी और भारत अंग्रेजी शासन से मुक्त हुआ, लेकिन आजादी के बाद भी हम पूर्ण रूप से स्वतंत्र न थे क्योंकि हमारा कोई अपना संविधान न था।

इस प्रकार भारत को गणतंत्र बनाने के लिए जो नया और अपना संविधान बना उसके निर्माण में ढाई वर्ष लग गए और जब हमारा संविधान बनकर तैयार हो गया तो उसे सन 1950 की 26 जनवरी को इस देश में लागू किया गया।

Republic Day Speech in Hindi
Republic Day Speech in Hindi

इस संविधान में सर्वोच्च संवैधानिक सत्ता के रूप में राष्ट्रपति का पद भी बनाया गया था जो स्वतंत्र भारत के संविधान के अनुसार भारत का सर्वोच्च शासक राष्ट्रपति के नाम से पुकारा जाने लगा एवं संविधान में भारत को सर्वप्रभुतासपन्न लोकतंत्रात्मक गणराज्य भी घोषित किया गया। इस प्रकार की शासन व्यवस्था से भारत संसार का सबसे बड़ा स्वतंत्र गणतंत्र राज्य बन गया ।

चूकी स्वतंत्रता के बाद भारत के ऐतिहासिक संविधान का निर्माण 26 जनवरी 1950 का दिन होने के कारण से इस दिन का महत्व और भी बढ़ गया और तब से इसके महत्व को सम्मानित करने और ऐतिहासिक स्वतंत्रता को याद करने के लिए प्रत्येक वर्ष इस दिन को ‘गणतंत्र दिवस’ के नाम से एक राष्ट्रीय पर्व के रूप में बड़ी धूम – धाम से सारे देश में, विशेषत: राजधानी दिल्ली में मनाते है।

अंत मैं अपनी वाणी को विराम देते हुए बस यही कहना चाहूँगा कि हम इस दिन का जितना भी गुणगान करे वह काफी नहीं होगा। यह दिवस हमारी राष्ट्रीय चेतना का प्रतीक है। इसलिए मैं देश के सभी वीर जवानों को याद करते हुए उनको शत-शत नमन करता हूं। उनका अभिनंदन करता हूं और कामना करता हूं कि देश की गणतंत्रता की लौ सदा यूं ही जलती रहें। जय हिंद जय भारत

Related Post ( इन्हें भी जरुर पढ़े )

जोश भरने वाली देशभक्ति शायरी

देश-प्रेम पर बेहतरीन कविता

गुणीजनों एवं महापुरुषों के देशभक्ति सुविचार

देशभक्ति पर दिल छू लेने वाले नारे

26 जनवरी ‘गणतंत्र दिवस’ पर निबंध

स्वतंत्रता आंदोलन के प्रसिद्ध नारे

10 Lines on Republic Day in Hindi Click Here

Republic Day Status in Hindi Click Here

आशा करती हूँ कि ये भाषण छोटे और बड़े सभी के लिए उपयोगी सिद्ध होगी। गणतंत्र दिवस और संविधान के विषय में लिखते समय अनजाने में हुई किसी भी त्रुटी के लिए क्षमा करें। इसे सरलता से गणतंत्र दिवस के आयोजनों में बोलने के उद्देश्य से प्रस्तुत करने का यह केवल एकमात्र प्रयास था। और गर अच्छा लगा हो तो इसमें निरंतरता बनाये रखने में आप का सहयोग एवं उत्साहवर्धन अत्यंत आवश्यक है। 

अत: आप से आशा करती हूँ कि हमारे इस प्रयास में सहयोगी होंगे, साथ ही अपनी व्यक्तिगत प्रतिक्रियाओं और सुझाओं से हमें अवगत करायेंगे ताकि आप के बहुमूल्य सुझाओं के आधार पर इसको हम और अधिक सारगर्भित और उपयोगी बना सके।

Loading...

आप अपने सुझाव को इस लिंक Facebook Page के जरिये भी हमसे साझा कर सकते है. और हाँ हमारा free email subscription जरुर ले ताकि मैं अपने future posts सीधे आपके inbox में भेज सकूं. 

Babita Singh
Hello everyone! Welcome to Khayalrakhe.com. हमारे Blog पर हमेशा उच्च गुणवत्ता वाला पोस्ट लिखा जाता है जो मेरी और मेरी टीम के गहन अध्ययन और विचार के बाद हमारे पाठकों तक पहुँचाता है, जिससे यह Blog कई वर्षों से सभी वर्ग के पाठकों को प्रेरणा दे रहा है लेकिन हमारे लिए इस मुकाम तक पहुँचना कभी आसान नहीं था. इसके पीछे...Read more.

31 thoughts on “गणतंत्र दिवस पर भाषण (26 January Republic Day Speech in Hindi Language)

  1. Very awesome speech! Being a hardcore public speaking lover I wanted to participate in hindi speech this year on the day of republic day. I wrote my speech but felt like missing the real Essence. But after reading this speech and noting some points in my speech the real Essence was back now.
    Thank you so much! 🙂

  2. Mujhe yah speech bahut aachcha laga.i 26 janaury ke din speech bolna chahta hoo.i puri taiyari ki hai ki 26 janaury ke liye bahul aachcha speech de sakata hoo.yah speech bahut aachcha laga. aage 26 janaury ke liye phir aachcha speeck dunde. happy rebulic day .always be happy and may you live long.manny manny thank you.I am Manoj Tirkey. I live at singhpur.I study in yogoda collage ranchi jharkhand pin.code-834004.

  3. 26 जनवरी गणतंत्र दिवस कि सबको बहुत -बहुत बधाई हो। सुन्दर लेख

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *