स्वच्छ भारत अभियान
Hindi Post Nibandh Nibandh Aur Bhashan

स्वच्छ भारत स्वस्थ भारत – Essay on Swachh Bharat Swasth Bharat

स्वच्छ भारत स्वस्थ भारत पर निबंध 

(स्वच्छ भारत स्वस्थ भारत)
(स्वच्छ भारत स्वस्थ भारत)

विकास का मतलब मानव की केवल भौतिक आवश्यकताओं से नहीं बल्कि उसके जीवन की सामाजिक दशाओं में सुधार से सम्बन्धित होना चाहिए । अत: आर्थिक विकास में आर्थिक के अतिरिक्त सामाजिक, सांस्कृतिक एवं संस्थागत परिवर्तन शामिल होने चाहिए । विकास और स्वच्छता एक – दूसरे के विरोधी नहीं ये एक – दूसरे के पूरक हैं । एक संतुलित एवं साफ वातावरण के माध्यम से ही विकास के प्रयास रह सकते हैं । तभी मनुष्य जीवन के उच्च स्तर पर पहुँच सकता है ।

अगर आप स्वस्थ शरीर पाना चाहते है तो मन की पवित्रता के साथ – साथ शरीर की स्वच्छता अनिवार्य है। स्वच्छता आर्थिक, सामाजिक और नैतिक दृष्टि से भी अति आवश्यक है। किसी भी समुदाय या स्थान के समग्र विकास के लिए यह बेहद महत्वपूर्ण है।

इस बात का स्पष्ट उल्लेख हमारे धर्मग्रथों में किया गया है। तभी तो यहाँ के अधिकांश पर्व ऐसे है जिनकी तैयारियों के लिए साफ़ – सफाई कुछ दिन पूर्व से ही शुरू हो जाती है । घरों की लिपाई – पुताई साफ – सफाई करने में पूरा कुनबा जुटा रहता है । इन तीज – त्यौहारों पर ऐसा प्रतीत होता है कि किसी ने सफाई अभियान का शंखनाद कर दिया हो, लेकिन बिडम्बना ये है कि यह स्वच्छता अभियान केवल अपनी और अपने घरों की साफ – सफाई तक ही सिमित रह जाता है।

वहीं सामाजिक, धार्मिक स्थलों या फिर कोई भी सार्वजनिक जगहों के कुछ खास ऐसे ठिकाने जहाँ कचड़े और उनमें पनप रहें कीटाणुओं (germs) की अधिकता से हमें जो शारीरिक, मानसिक तौर पर कष्ट होता है जो असुविधा होती है उस कष्ट को नजरअंदाज करना जैसे की हमारी आदत ही हो। इन जगहों पर फैली गंदगी व कूड़ा कचरा सफाई व्यवस्था की सच्चाई बयां करने के लिए काफी है। सड़को से लेकर कई अन्य स्थानों पर जगह – जगह पान की पीक, गंदगी व बदहाली साफ दिखती है ।

वास्तविकता तो यह है कि अपने घर में सफाई को लेकर हम जितने संजीदा रहते हैं, सार्वजनिक स्थलों पर इस स्वच्छता को लेकर उतने ही लापरवाह और गैरजिम्मेदाराना रुख अपना लेते है। असल में सार्वजनिक स्थलों पर गंदगी फैलाना मानों लोग अपना जन्मसिद्ध अधिकार समझते हो और बड़ी मात्रा में अस्वच्छता फैलाते है। असल में इस अस्वच्छता का सबसे बड़ा जिम्मेदार स्वच्छता के महत्व का ज्ञान न होना भी है । स्वच्छ भारत के लिए हमें अपने घर, गली, शहर, आदि सबको साफ करना होगा।

स्वच्छता के लिहाज से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का “स्वच्छ भारत अभियान” एक क्रांतिकारी कदम कहा जा सकता है जो किसी भी समुदाय या स्थान विशेष के समग्र विकास के लिए बहुत जरुरी भी है । मोदी जी खुद कहते है कि स्वच्छता को देशभक्ति की भावना से जोड़कर देखना चाहिए । जब गाँधीजी ने कभी स्वच्छता से समझौता नहीं किया और देश को आजादी दिलाई तब हम क्यों न स्वच्छ भारत के उनके सपने को साकार करें ।

Swachh Bharat Abhiyan Speech & Essay in Hindi
Swachh Bharat Abhiyan Speech & Essay in Hindi

हालांकि भारत में स्वास्थ्य व्यवस्था पर प्रति वर्ष बहुत ज्यादा पैसा सरकारी तौर पर खर्च होते है फिर भी जाने कितने ही बच्चों का जीवन कचरा बीनते हुए ही खत्म हो जाता है सच तो यह है कि बढ़ती जनसंख्या के साथ कचरा प्रबंधन भी एक बड़ी समस्या बनकर उभरा है इसलिए उपयोग की गई वस्तु का रिसाइकल कर, आमजन के लिए रोजगार के नये अवसर प्रदान किए जा सकते है इसके अलावा कचरे से वर्मी कम्पोस्ट जैसे प्राकृतिक उर्वरको आदि का निर्माण किया जा सकता है इस से जहां रोजगार के नए अवसर पैदा होंगे, वही सही तरीके से कचरा निष्पादन से लोगों के स्वास्थ्य पर भी उनका बुरा असर नहीं पड़ेगा और हमारे स्वास्थ्य खर्चे में भारी कमी हो सकती है

साफ  – सफाई (cleanliness) केवल सामूहिक जीवन में ही नहीं बल्कि आर्थिक, सामाजिक और नैतिक रूप से भी महत्वपूर्ण है समाज के हित के लिए सफाई के बुनियादी तथ्यों तक पहुंचना बेहद जरुरी है स्वच्छ भारत की संकल्पना न सिर्फ भारत सरकार का एक सार्थक प्रयास है बल्कि सभी भारतियों की यह एक सामाजिक और नैतिक जिम्मेदारी भी है

*********************************************************************************************

Also Read 

स्वच्छता और स्वास्थ्य पर निबंध

स्वच्छता पर  Slogans, Poems & Quotes 

स्वच्छ भारत अभियान पर कविता कोट्स और नारे 

 स्वच्छ भारत अभियान पर उत्कृष्ट भाषण

 FREE e – book “ पैसे का पेड़ कैसे लगाए ” [Click Here]

Friends इस Swachh Bharat Swasth Bharat Essay – स्वच्छता अभियान पर भाषण के साथ – साथ हमारे Facebook Page  को जरुर like करे और  इस Post को share करे | और हाँ हमारा future post सीधे आप अपने inbox में प्राप्त करना चाहते है तो ख्याल रखें का  email subscription ले सकते है जो की मुफ्त है |

Babita Singh
Hello everyone! Welcome to Khayalrakhe.com. हमारे Blog पर हमेशा उच्च गुणवत्ता वाला पोस्ट लिखा जाता है जो मेरी और मेरी टीम के गहन अध्ययन और विचार के बाद हमारे पाठकों तक पहुँचाता है, जिससे यह Blog कई वर्षों से सभी वर्ग के पाठकों को प्रेरणा दे रहा है लेकिन हमारे लिए इस मुकाम तक पहुँचना कभी आसान नहीं था. इसके पीछे...Read more.

25 thoughts on “स्वच्छ भारत स्वस्थ भारत – Essay on Swachh Bharat Swasth Bharat

Leave a Reply

Your email address will not be published.