Hindi Post Hindi Quotes विविध

Chanakya Quotes in Hindi | चाणक्य के विश्व प्रसिद्ध महान अनमोल वचन के कोट्स

Web Hosting

Enjoy the best Chanakya hindi Quotes at khayalRakhe. Quotations by Chanakya, Indian Politician. Born 350 BC. Share with your Friends.

Chanakya Quotes in Hindi – इस लेख में आज अर्थात KhayalRakhe.com पर हम आपके लिए Acharya Vishnugupta Chanakya Suvichar, Thoughts & Quotes in Hindi उपलब्ध करा रहे हैं । 

Chanakya Quotes In Hindi चाणक्य कोट्स इन हिंदी
Chanakya Quotes in Hindi

*********************************************************************************************

मूर्खो से वाद-विवाद नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे केवल आप आपना ही समय नष्ट करेंगे।

*********************************************************************************************

बीती बात का शोक नहीं करना चाहिए, भविष्य में जो होगा उसकी भी चिन्ता नहीं करनी चाहिए। बुद्धिमान लोग वर्तमान समय के अनुसार कार्यों में प्रवृत्त होते हैं।

*********************************************************************************************

न बनाया गया, न पहले कभी देखा गया, न किसी ने सुना किसी स्वर्ण मृग के बारे में। फिर भी श्रीरामचन्द्र की इच्छा उसे पाने की हुई। विनाश के समय में मनुष्य की बुद्धि विपरीत हो जाती है।

*********************************************************************************************

जो दूसरे की स्त्री को माता के समान, दूसरे के संपत्ति को मिट्टी के ढ़ेले के समान, समस्त प्राणियों को अपनी आत्मा के समान देखता हैं, वास्तव में तो वही देखता है।

*********************************************************************************************

उपकार करने वाले के साथ उपकार, और हिंसा करने वाले के साथ हिंसा करनी चाहिए क्योंकि ऐसा व्यवहार करने पर दोष नहीं होता, कारण कि दुष्ट के साथ दुष्टता का व्यवहार ही उचित है।

*********************************************************************************************

बिना देखे – विचारे व्यय करने वाला किसी का सहयोग न मिलने पर भी लड़ाई – झगड़ा करने वाला और सब वर्णों की स्त्रियों से संसर्ग को उतावला मनुष्य शीघ्र विनाश का प्राप्त होता है।

*********************************************************************************************

Enjoy the best Chanakya English Quotes with meaning in Hindi at khayalRakhe. Quotations by Chanakya, Indian Politician. Share with your Friends.

*********************************************************************************************

Loading...

Quotes – The biggest guru – mantra is : never share your secrets with anybody. It will destroy you.

In Hindi – सबसे बड़ा गुरु मन्त्र है : कभी भी अपने राज़ दूसरों को मत बताएं। ये आपको बर्बाद  कर देगा।  

*********************************************************************************************

Quotes – “Even if a snake is not poisonous, it should pretend to be venomous.”

In Hindi – अगर सांप जहरीला ना भी हो तो उसे खुद को जहरीला दिखाना चाहिए ।  

*********************************************************************************************

Quotes – “Do not reveal what you have thoughts upon doing, but by wise council keep it secret being determined to carry it into execution.”

In Hindi – इस बात को व्यक्त मत होने दीजिए कि आपने क्या करने का विचार किया है, बुद्धिमानी से इसे रहस्य बनाये रखिये और इस काम को करने के लिए दृढ़ रहिये ।

Chanakya चाणक्य

*********************************************************************************************

Quotes – There is poison in the fang of the serpent, in the mouth of the fly and in the sting of a scorpion; but the wicked man is saturated with it.

In Hindi – सांप के फन, मक्खी के मुख और बिच्छु के डंक में जहर होता है; पर दुष्ट व्यक्ति तो इससे भरा होता है ।  

Chanakya चाणक्य

*********************************************************************************************

Quotes – A man is great by deeds, not by birth.

In Hindi – कोई व्यक्ति अपने कार्यों से महान होता है, अपने जन्म से नहीं ।  

Chanakya चाणक्य

*********************************************************************************************

Quotes – Education is the best friend. An educated person  is respected everywhere. Education beats the beauty and the youth.

In Hindi – शिक्षा सबसे अच्छी मित्र है । एक शिक्षित व्यक्ति हर जगह सम्मान पाता है । शिक्षा सौन्दर्य और यौवन को परास्त कर देती है । 

Chanakya चाणक्य

*********************************************************************************************

Quotes – A man is born alone and dies alone; and he experiences of his karma alone; and he goes alone ; and he goes alone to hell or the Supreme abode.

In Hindi – व्यक्ति अकेले पैदा होता है और अकेले मर जाता है; और वो अपने अच्छे और बुरे कर्मों का फल खुद ही भुगतता है; और वह अकेले ही नर्क या स्वर्ग जाता है | 

Chanakya चाणक्य

*********************************************************************************************

Quotes – Treat your kid like a darling for the first five years. For the next five years, scold them. By the time they turn sixteen, treat them like a friend. Your grown up children are your best friends.

In Hindi – पहले पांच सालों में अपने बच्चे को बड़े प्यार से रखिए । अगले पांच साल उन्हें डांट – डपट के रखिए । जब वह सोलह साल का हो जाये तो उसके साथ एक मित्र की तरह व्यवहार करिए । आपके वयस्क बच्चे ही आपके सबसे अच्छे मित्र है । 

Chanakya चाणक्य

*********************************************************************************************

Quotes – There is some self – interest behind every friendship. There is no friendship without self – interests. This is a bitter truth.

In Hindi – हर मित्रता के पीछे कोई न कोई स्वार्थ होता है । ऐसी कोई मित्रता नहीं जिसमे स्वार्थ ना हो । यह कड़वा सच है । 

Chanakya चाणक्य

*********************************************************************************************

Quotes – Books are as useful to a stupid person as a mirror is useful to a blind person.

In Hindi – किसी मूर्ख व्यक्ति के लिए किताबे उतनी ही उपयोगी है जितना कि एक अंधे व्यक्ति के लिए आईना । 

Chanakya चाणक्य

*********************************************************************************************

Quotes – The fragrance of flowers spreads only in the direction of the wind. But the goodness of a person spreads in all direction.

In Hindi – फूलों की सुगंध केवल वायु की दिशा में फैलती है । लेकिन एक व्यक्ति की अच्छाई हर दिशा में फैलती है ।  

Chanakya चाणक्य

*********************************************************************************************

Quotes – The world’s biggest power is the youth and beauty of a woman.

In Hindi – दुनिया की सबसे बड़ी शक्ति नौजवानी और औरत की सुन्दरता है ।  

Chanakya चाणक्य

*********************************************************************************************

Quotes – As long as your body is healthy and under control and death is distant, try to save your soul, when death is immanent what can you do ?

In Hindi – जब तक आपका शरीर स्वस्थ्य और नियंत्रण में है और मृत्यु दूर है, अपनी आत्मा को बचाने की कोशिश कीजिए; जब मृत्यु सर पर आजायेगी तब आप क्या कर पाएंगे ?

Chanakya चाणक्य

*********************************************************************************************

Quotes – Before you start some work, always ask yourself three questions – why I am doing it, what the results might be and will I be successful. Only when you think deeply and find satisfactory answers to these questions, go ahead.

In Hindi – कोई काम शुरू करने से पहले, स्वयं से तीन प्रश्न कीजिए – मैं ये क्यों कर रहा हूँ, इसके परिणाम क्या हो सकते हैं और क्या मैं  सफल हो सकूंगा। जब गहराई से सोचने पर इन प्रश्नों के संतोषजनक उत्तर मिल जाए, तभी आगे बढ़ें।

Chanakya चाणक्य

*********************************************************************************************

Quotes – As soon as the fear approaches near, attack and destroy it.

In Hindi – जैसे ही भय आपके करीब आए, उस पर आक्रमण कर उसे नष्ट कर दीजिए ।  

Chanakya चाणक्य

*********************************************************************************************

Quotes – The serpent, the king, the tiger, the stinging wasp, the small child, the dog owned by other people, and the fool; these seven ought not to be awakened from sleep.

In Hindi – सर्प, नृप , शेर , डंक मारने वाले ततैया छोटे बच्चे, दूसरों के कुत्ते, और एक मूर्ख:, इन सातों को नीद से नहीं उठाना चाहिए।  

Chanakya चाणक्य

*********************************************************************************************

Quotes – We should not fret for what is past, nor should we be anxious about the future; men of discernment deal only with the present moment.

In Hindi – हमें भूत के बारे में पछतावा नहीं करना चाहिए, ना ही भविष्य के बारे में चिंतित होना चाहिए ; विवेकवान व्यक्ति हमेशा वर्तमान में जीते हैं । 

Chanakya चाणक्य

*********************************************************************************************

Quotes – As a single withered tree, if set aflame, causes a whole forest to burn, so does a rascal son destroy a whole family.

In Hindi – जिस प्रकार एक सूखे पेड़ को अगर आग लगा दी जाये तो वह पूरा जंगल जला देता है, उसी प्रकार एक पापी पुत्र पूरे परिवार को बर्बाद कर देता है।

Chanakya चाणक्य

*********************************************************************************************

Quotes – God is not present in idols. Your feelings are your god. The soul is your temple.

In Hindi – भगवान मूर्तियों में नहीं है ।  आपकी अनुभूति आपका ईश्वर है । आत्मा आपका मंदिर है ।  

Chanakya चाणक्य

*********************************************************************************************

चाणक्य नीति के अर्थ सहित दोहे (Chanakya Quotes In Hindi With Meaning)

*********************************************************************************************

आशा है आप सभी पाठकों को चाणक्य नीतिशास्त्र के 17 मूल कथन दोहों का काव्यानुवाद जरुर पसंद आएगा है :

*********************************************************************************************

 सत्य वस्तु को त्यागी जो, करै असत की आश |

है ही असत विनाश तो, होई सत्य हू नाश ||

Meaning in Hindi : जो धुव यानि सत्य वस्तु अथवा कार्य को छोड़ कर अधुव यानि असत्य वस्तु या कार्य को अपनाता है उसकी सत्य वस्तु भी नाश हो जाती है अर्थात नहीं मिलती है ।  इसलिए सत्य को ही अपनाना चाहिए क्योंकि असत्य तो स्वयं ही नाशवान है ।  

Chanakya 

*********************************************************************************************

व्यसन रोग दुष्काल अरु, शत्रु करे आघात |

नृप सन्मुख श्मशान में, साथ रहे सो भ्रात ||

Meaning : आतुर यानि बीमार होने पर, किसी बुरे कार्य में फँसने पर, अकाल पड़ने पर, बैरी द्वारा कष्ट में फँस जाने पर, राज्य दरबार में और श्मशान भूमि में जो अपने साथ रहता है या साथ देता है असल में वही भाई है, बन्धु है ।  

*********************************************************************************************

यत्न किये नहीं दीनता, जाप किये नहीं पाप |

मौन रहे ना कलह कछु, जागे निर्भय आप ||

Meaning : उपाय उपयोग करने से दरिद्रता दूर हो जाती है ।  जप / मंत्र करने से पापो का नाश होता है | मौन हो जाने से कलह या लड़ाई होते हुए भी शांत हो जाती है और जागते रहने से भय अवश्य ही दूर हो जाता है ।  

*********************************************************************************************

चाणक्य के प्रेरक प्रसंग (Chanakya Motivational Quotes In Hindi)

*********************************************************************************************

पीछे सोचें मारनों, सन्मुख प्रगटे प्रीति |

विष भीतर मुख दूध है, तजन जोग अस मीत ||

Meaning : ऐसा मित्र जो आपके सामने तो मीठी – मीठी बात बनाता है और पीठ पीछे कार्य को बिगाड़ता है, वह कभी भी सच्चा मित्र नहीं बन सकता है ऐसा मित्र तो उस घड़े के समान है जिसमें जहर भरा है और मुखड़े पर थोड़ा दूध दिखाई पड़ता है ऐसे मित्र को त्यागना ही उचित है |

Chanakya

*********************************************************************************************

इस तरह के और भी अनमोल वचन के कोट्स पढने के इच्छुक हैं तो नीचे दिये गये लिंक पर क्लिक करके आप बेहतरीन नये लेटेस्ट कोट्स प्राप्त कर सकते हैं.

सुप्रभात सुविचार कोट्स

सर्वश्रेष्ठ प्रेरणादायक अनमोल वचन

सुनहरे अनमोल सुविचार

*********************************************************************************************

कबहु कुमित्र सुमित्र पै, नहीं कीजै विश्वास |

प्रिय सुमित्र हू क्रोध में, कर दे भेद प्रकाश ||

Meaning : किसी भी मित्र पर यकायक विश्वास करना ठीक नहीं होता है क्योंकि मित्र भी यदि कभी क्रोधित हो जाता है तो वह सब गुप्त भेद को प्रकट कर देता है |

Chanakya

*********************************************************************************************

मन में सोचे काज को, प्रकट करो जनि कोई |

जब लों होई न काज मन, तब लों राखहु गोई ||

Meaning : मन में बिचारे हुए काम को किसी के सामने प्रगट नहीं करना चाहिये क्योंकि बचन से जाहिर हुआ काम नष्ट हो जाता है । इसलिए मंत्र की भांति कार्य को गुप्त रखकर ही पूरा करना चाहिये । 

Chanakya

*********************************************************************************************

चाणक्य के अमर अनमोल विचार(Chanakya Anmol Vichar in Hindi)

*********************************************************************************************

बोली कहि दे देश को, अरु कुल को आचार |

तन कहि दे आहार को, प्रीति कहै सत्कार ||

Meaning : आचार विचार से कुल का पता लगता है, भाषा बोली से देश का पता लगता है । आदर भाव से प्रीति जानी जाती है और शरीर के रूप से भोजन का पता लग ही जाता है । 

Chanakya

*********************************************************************************************

यौवन हो अरु रूप हो, हो नहीं विद्द्या पास |

ता नर को बिन गंध के, जानहु फूल पलास ||

Meaning : सुन्दर रूप जवानी की दीपक, बड़े कुल में जन्म ये सब मनुष्य में होते हुए यदि विद्द्या से रहित है तो विदद्यहीन मनुष्य ढाक के फूल के सा समान ही है जो देखने में सुन्दर है किन्तु सुगन्ध से खाली है । 

चाणक्य 

*********************************************************************************************

दर्श ध्यान स्पर्श करि, कछुई पक्षिणी मीन |

पालहिं शिशु त्यों ही सुनो, सज्जन संग प्रवीन ||

Meaning : सज्जनों का साथ बड़ा उत्तम होता है क्योंकि ये अपनी संगति में आये हुए का इस प्रकार पालन – पोषण करते है जैसे मछली कछुआ और पक्षी अपने बच्चों का दर्शन, ध्यान और स्पर्श से पोषण करते है । 

चाणक्य 

*********************************************************************************************

कामधेनु के सर्वगुण, विद्द्या में लेउ जान |

 गुप्त वित्त परदेश में, रक्षै मातु समान ||

Meaning : विद्द्या कामधेनु के समान होती है जो अकाल में भी फल देती है | जैसे कामधेनु से अकाल में भी दूध प्राप्त होता है और परदेश में माता के तरह रक्षा करती है । इसलिए विद्द्या गुप्त धन जैसा है | इसका संग्रह करना आवश्यक है । 

चाणक्य 

*********************************************************************************************

चाणक्य के लाइफ चेंजिंग कोट्स इन हिंदी (Life Changing Quotes in Hindi) 

*********************************************************************************************

बल न आत्म बल सम कोई, जल न तुल्य जल मेह |

नहिं प्रकाश कोउ नेत्र सम, वस्तु अन्न सम केह ||

Meaning : मेघ के जल जैसा दूसरा जल उत्तम नहीं, आत्मबल जैसा कोई दूसरा बल नहीं । नेत्र तेज के समान दूसरा तेज नहीं और अन्न के समान दूसरी कोई वस्तु प्यारी इस संसार में नहीं है । 

चाणक्य 

*********************************************************************************************

निज धन भोजन नरि में, नित उर धरि सन्तोष |

पढ़िवे में जप दान में, कबहु न करि सन्तोष ||

Meaning : मनुष्य को अपनी औरत, अपने धन और समयानुसार अपने भोजन में सन्तोष करना चाहिए परन्तु विद्द्या पढ़ने, जप करने और दान देने में कभी सन्तोष करना ठीक नहीं । 

चाणक्य 

*********************************************************************************************

अति सीधे बनिये नहीं, लखहु बिपन में जाय |

सीधे तरु कटि जात हैं, टेड़े खड़े सतराय ||

Meaning : अत्यन्त सीधा होना भी दुखदाई होता है । सीधे स्वभाव वाला व्यक्ति उसी तरह दुःख को भोगता है जैसे वन में सीधा वृक्ष शीघ्र ही काट लिया जाता है और टेड़े – मेडे के काटने में समय लगता है । 

चाणक्य  

*********************************************************************************************

चाणक्य नीति हिंदी (Chanakya Neeti Hindi Me)

*********************************************************************************************

अपच भये जल औषधि, पचे देय बल जान |

भोजन समये जन अमिय, भोजनान्त विष मान ||

Meaning : जल का गुण – अपच अवस्था में पीना औषधि है । भोजन पच जाने पर जल पीना बलदायक है । भोजन करते समय मध्य – मध्य में पीना अमृत के समान गुण वाला है किन्तु भोजन के बाद तुरन्त जल का एकदम पीना विषकारी है । 

चाणक्य  

*********************************************************************************************

शास्त्र विचारौ कहा करै, जाहि न बुधि विधि दीन |

दरपन में देखे कहा, जो मानव दृग हीन ||

Meaning : जिनमें स्वयं बुद्धि नहीं उसको शास्त्र की शिक्षा क्या लाभ पहुँचायेगी जैसे कि अंधे को दर्पण दिखाने से क्या लाभ ।                                                                                                                                                                                     *******************************************************************************************

जितने दुःख या जगत में, सबै सहर्ष सहै |

परि बन्धुन में निर्धनी, व्है नहिं जियत रहै ||

Meaning : सिंह और बड़े बड़े हाथियों से घिरे वन में, वृक्षों के नीचे रह कर, फलफूल खाकर जल पीकर घास पर सो रहना और छाल आदि चीथड़ों के वस्त्र से शरीर ढक लेना अच्छा है किन्तु धनहीन होकर बंधुओं के बीच रहना अच्छा नहीं ।

चाणक्य 

*********************************************************************************************

जल की इक इक बूंद सों, कबहू घड़ा भरिजाय |

विद्द्या धन अरु धर्म कौ, जानों यही सुभाय ||

Meaning : एक – एक बूंद जल की गिरने से घड़ा भर जाता है । इसी तरह विद्द्या धन और धर्म भी धीरे – धीरे संचय करने से इकट्ठे होते है । 

चाणक्य  

*********************************************************************************************

निवदेन – Friends यदि आपको Chanakya Quotes For Success ChaIn Hindi का यह संग्रह अच्छा लगा हो तो हमारे Facebook Page को जरुर like करे और  इस post को share करे । और हाँ हमारा free email subscription जरुर ले ताकि मैं अपने future posts सीधे आपके inbox में भेज सकूं । 

जोड़े गये Very Short & Beautiful Thoughts & Quotes जो बेहद उम्दा और प्रेरणादायक हैं और जिसे खास आपके लिए चुनकर लायें हैं जोकि आप नीचे दिये गये लिंक पर क्लिक करके आप प्राप्त कर सकते हैं.

 प्यार मोहब्बत की शायरी

सुप्रभात शायरी और सुविचार

51 सर्वश्रेष्ठ अनमोल विचार

Loading...
Copy

20 thoughts on “Chanakya Quotes in Hindi | चाणक्य के विश्व प्रसिद्ध महान अनमोल वचन के कोट्स”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *