Mahilaon Ke Liye yoga Ke Labh
Health Hindi Post

महिलाओं के लिए योग व उनके लाभ : Yoga For Women in Hindi

Yoga For Women in Hindi : आजकल के व्यस्त जीवनशैली (Lifi Style) में महिलाओं के लिए योग बहुत आवश्यक है | स्त्री हो या पुरुष योगा के फायदे दोनों के लिए बहुत है | पर पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं का शरीर काफी जटिल होता है | इस कारण उनके शरीर में गड़बड़ी होने की आशंका भी ज्यादा रहती है |

महिलाए अकसर सिर दर्द, कमर दर्द, बुखार, यौन संक्रमण तथा तनाव जैसी समस्याओं से परेशान रहती है | इन समस्याओं का योग क्रियाओं के नियमित अभ्यास से बहुत सहजता से समाधान किया जा सकता है | पर सवाल यह उठता है कि महिलाओं के लिए कौन – कौन से योगासन है जिनसे आधिक से अधिक लाभ मिल सके |

आज मैं अपने इस लेख में कुछ ऐसे ही आसन के बारें में बताने जा रही हूँ जिन्हें आप अपनी दिनचर्या में शामिल करें और उनका लाभ उठाये | आइए जाने महिलाओं के लिए योग कौन – कौन से है –  

महिलाओं के लिए योग के लाभ ( Yoga For Women in Hindi )

महिलाओं के लिए योग के अनेक फायदे है | आप अपनी क्षमता का ध्यान रखते हुए सभी आसनों का अभ्यास कर सकती है, किन्तु सूर्य नमस्कार, मार्जारी आसन, व्यघ्रासन, शंशाकासन, ग्रीवासन, सर्वागासन, धनुरासन, तथा सुप्त ब्रजासन विशेष रूप से महिलाओं के लिए लाभकारी है |

महिलाओं के लिए योग के लाभ

Yoga For Women in Hindi 

मार्जारी आसन से लाभ

  • मार्जारी आसन महिलाओं के लिए विशेष रूप से लाभदायक है | गर्भावस्था के दौरान पहले तीन महीने तक मार्जारी आसन का अभ्यास किया जा सकता है |
  • महिलाओं को ल्युकेरिया और मासिक धर्म की समस्या से छुटकारा दिलाने में असरदार साबित हो सकता है |
  • मार्जारी आसन से पीठ दर्द में आराम मिलता है |
  • यह आसन शरीर को उर्जावान बनाता है |

जरुर पढ़े : गर्भावस्था में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए

व्याघ्रासन से लाभ

  • व्याघ्रासन करने से साइटिका की बीमारी से तथा कमर के निचले हिस्से में दर्द की समस्या से छुटकारा मिलता है |
  • रोजाना सुबह – सुबह व्याघ्रासन करने से पाचन शक्ति ठीक रहता है | एकाग्रता बढती है और तनाव से मुक्ति मिलती है |
  • अगर आप पेट और जांघ की चर्बी को कम करना चाहती है तो यह एक अच्छा योग है |
  • महिलाओं की प्रजनन संबंधी समस्याओं का समाधान करने में उपयोगी है | रोजाना इस आसन को करने से शरीर में रक्त प्रवाह भी ठीक से होता है |

शंशाकासन से लाभ

  • नियमित रूप से इस आसन को करने से शरीर मजबूत और लचीला बनता है |
  • पाचन प्रणाली सक्रिय होती है और कब्ज को दूर करता है |
  • काम विकारों को दूर करता है |
  • क्रोध, भय, शोक, आदि आवेश तथा भावनात्मक असंतुलन को कम करता है |
  • कई बीमारियों जैसे हृदय रोग, दमा, मधुमेह से पीड़ित व्यक्ति के लिए उपयोगी योग है |
  • पेट पर जमी अतिरिक्त चर्बी को कम कर मोटापा दूर करने में सहायक है |

महिलाओं के लिए योग और उनसे होने वाले लाभ

सर्वांगासन से लाभ

  • सर्वांगासन में संपूर्ण शरीर का व्यायाम होता है और इसलिए इसे सर्व – आसन = सर्वांगासन नाम दिया गया है | कुछ योग विशेषज्ञ तो इस आसन को अन्य सभी आसनों की जननी भी कहते है |
  • इस आसन को करने से थकान और दुर्बलता दूर होती है | पीठ और कंधे मजबूत होते है तथा वजन कम करने में भी सहायक है |
  • कब्ज और पाचन संबंधी रोग दूर होते है | मनोविकार दूर होता है |
  • दमा के रोगी व्यक्तियों के लिए बेहद उपयोगी है |
  • महिलाओं के गर्भाशय और मासिक धर्म से जुड़ी समस्याओं को दूर करने में उपयोगी है
  • एकाग्रता और बुद्धिमत्ता में बृद्धि होती है |
  • यह आसन थाइरोड़ ग्रंथि को क्रियाशील बनाता है |

जरुर पढ़े : आत्मविश्वास कैसे पाए

धनुरासन से लाभ

  • महिलाओं को यह आसन करने से मासिक धर्म संबंधी विकार दूर करने में मदद मिलती है |
  • मल बद्धता, अजीर्ण और पाचन से जुड़े विकार दूर होते है | पैर और कंधों के स्नायु मजबूत होते है |
  • पाचन प्रणाली मजबूत होती है |

सुप्त बज्रासन से लाभ

  • यह आसन मासिक धर्म, तथा स्त्रियों के योनि विकारों को दूर करता है | इस आसन से महिलाओं का बाझपन भी दूर होता है |
  • यदि आप सुंदर दिखना चाहती है तो यह आसन जरुर करें | इस आसन को करने से पेट की चर्बी कम होता है तथा कमर को पतली , लचीली , सुंदर व आकर्षक बनाता है | बुढ़ापा जल्दी नहीं आता है | इससे शरीर में हल्कापन आता है |
  • आखों की रोशनी बढती है |
  • रक्त शुद्ध होता है |
  • पैरो, घुटनों, जांघों, कमर, और छाती मजबूत होती है | सांस से संबंधी रोग दूर होते है |
  • मस्तिष्क, पेट, गलें, व घुटनों के दर्द को दूर करता है |

जरुर पढ़े : दुनिया करेगी आपको सलाम

सहजोली मुद्रा

  • महिलाओं की प्रजनन संबंधी समस्याओं के समाधान हेतु योग की एक विशिष्ट क्रिया सहजोली मुद्रा बहुत उपयोगी है | इस क्रिया का चलते – फिरते भी अभ्यास किया जा सकता है | इससे गर्भाशय तथा गुदाद्वार के बीच के भाग को हल्का – सा ऊपर की ओर खींचकर रखा जाता है | इसके अभ्यास से न्युकोरिया, योनी संक्रमण तथा मूत्र संक्रमण के होने का खतरा अपने आप कम हो जाता है |

आसन करने से पहले कुछ बातों पर ध्यान दें

Mahilaon Ke Liye yoga Ke Labh, yoga for women in hindi

गर्भावस्था के दौरान या किसी गंभीर रोग की स्थिति में प्रशिक्षित योग गुरु के निर्देशन में ही योगाभ्यास करना चाहिए | कभी भी टी वी या इंटरनेट पर देखकर योगासन न करें, नकारात्मक असर पड़ सकता है |

सेहत को लेकर सजग होना जितना जरुरी महिलाओं के लिए योग का है उतना ही जरुरी जीवनशैली को मेंटेन रखना भी है तभी आप को योग का लाभ होगा | अत: आप अपनी जीवनशैली में निम्न महत्वपूर्ण बातों को भी ध्यान में रखें –

ख्याल रखें

  • नियमित रूप से अपने शरीर की सफाई करें, खास तौर पर प्राइवेट पार्ट्स की |
  • अपना अंडरगार्मेंट्स चुनते वक्त हमेशा सावधानी बरतें | नायलान या इस तरह की कोई और फैब्रिक से बने अंडरगार्मेंट्स पहने की जगह हमेशा सूती कपड़े से बने ही अंडरगार्मेंट्स चुनें |
  • नियमित रूप से सैर और व्यायाम करें |
  • अधिकांशतः महिलाएं बहुत भावुक होती है, जिससे उनमें तनाव तथा दुःखी होने की आशंकाएं पुरुषो की तुलना में ज्यादा होती है | भावुकता तथा मनोभावनात्मक असंतुलन से लड़ने के लिए ध्यान एवं योग निद्रा का अभ्यास बहुत प्रभावकारी होता है |

जरुर पढ़े : आम खाने के फायदे

निवदेनFriends अगर आपको ‘ महिलाओं के लिए योग ‘ पर यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे जरुर share कीजियेगा  |

Loading...
Copy

19 thoughts on “महिलाओं के लिए योग व उनके लाभ : Yoga For Women in Hindi”

  1. जीवनशैली में परिवर्तन के साथ आम और खास हर कोई स्वास्थ्य समस्याओं से जूझ रहा है |महिलाएं इसमें खास तौर से शामिल हैं , क्योंकि अक्सर वो अपने स्वस्य्ति की अनदेखी करती हैं | डॉक्टरों के महंगे बिल अदा करने के स्थान पर अगर पहले से ही योग का नियम बना लिया जाए तो तन व् मन स्वस्थ रहेगा | इस क्रम में आपकी पोस्ट बहुत उपयोगी है

  2. सभी को अपने दिनचर्या मे योग को अवश्य सामिल करना चाहिये , स्वस्थ जीवन के लिए योग बहुत ज़रूरी है , सभी लोगों के लिए अच्छी सिख आपको बहुत बहुत धन्यवाद

  3. योग पर बहुत ही उपयुक्त जानकरी शेयर की है आपने. योग हामरे तन – मन को स्वस्थ रखने के लिए बहुत ही जरूरी है| इसलिए आज सम्पूर्ण मानव समाज योग की आवश्यकता एवं महत्व को समझता है| आपकी यह पोस्ट लोगों को योग के बारे जागरूक बनायेगी|

    धन्यवाद बबिता जी….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *