Vrat Ka Khana Ya Vrat Me Kya Khaye
Health Hindi Post Vrat-Tyohar

Vrat Ka Khana, उपवास का खाना स्वाद और सेहतभरा बनाने के ये तरीके जरुर अपनाएं

Vrat Ka Khana in Hindi – उपवास का खाना स्वाद और सेहतभरा बनाने के लिए ये तरीके जरुर अपनाएं

व्रत (उपवास) हमारी आस्था के प्रतीक है और इसके रखने के कई फायदे भी होते है | ज्यादातर व्रत में हम सब फलाहार खाते है | इसकी एक वजह यह भी है कि फलों में भरपूर मात्रा में विटामिन एवं खनिज लवण होते है | ये शरीर को विभिन्न रोगों से सुरक्षा प्रदान करने में अमूल्य भूमिका निभाते है | फल खाने में भी स्वादिष्ट, क्षुधावर्धक एवं तृप्तिदायक होते है | इनका मजेदार स्वाद, लुभावनी सुगंध एवं आकर्षण रंग सभी व्यक्तिओं को अनायास ही अपनी ओर आकृष्ट कर लेता है |

Vrat Ka Khana in Hindi
Vrat Ka Khana in Hindi

भारत में फलों का प्रयोग आदि काल से होता आ रहा है | महाभारत एवं रामायण में फलों के वर्णन से आप इसका अंदाजा लगा सकते है | भगवान राम, सीता तथा लक्ष्मण वनवास के समय फल खाकर ही अपना जीवनयापन करते थे |

Vrat Ka Khana, Vrat Me Kya Khaye jo rakhe sehat ka khayal

फल खाओ सेहत बनाओ | यह बात फलों के पोषण मूल्यों को ध्यान में रखकर ही कहा गया है और अपने पोषण मूल्यों के कारण ही इसे व्रत का खाना में शामिल किया गया है |

फलों में प्रोटीन, कार्बोज, विटामिन्स, खनिज लवण, फाइबर आदि प्रचुर मात्रा में विद्यमान होते है इसलिए सेहत की दृष्टि से व्रत का खाना में इन्हें जरुर शामिल करना चाहिए | इससे आपको उपवास के दौरान किसी भी प्रकार की कमजोरी या अस्वस्थ्य होने का खतरा नहीं होगा | लेकिन व्रत का खाना में फल का प्रयोग किस रूप में करें कि अधिकाधिक पोषक तत्व प्राप्त हो सके इसकी जानकारी होना भी बहुत आवश्यक है क्योंकि आप फल को कैसे और किस रूप में खा रहे है इसका सीधा प्रभाव आपके स्वास्थ्य पर पड़ता है |

बहुत से लोगों की आदत होती है की वह व्रत में फल खाने के स्थान पर बाजार से कोई जूस का डिब्बा या केन खरीद के लाते है और उसे फ्रिज में रख देते है | फिर जब मन करता है फ्रिज से जूस निकाल कर पी लेते है | कही आप भी तो ऐसा नहीं करते है अगर ऐसा है तो अपनी यह आदत बदल डालिए क्योंकि यह आदत आप की सेहत के लिए बहुत हानिकारक है |

Vrat Ka Khana in Hindi
Vrat Ka Khana in Hindi

व्रत में क्या खाए ( Vrat me kya khaye )

आइए जानते है कि कैसे फलों की पौष्टिकता खोएं बिना व्रत के खाना में इनका इस्तेमाल करें –

  • फलों में प्राकृतिक रूप से मिठास पाई जाती है | इसलिए इसमें अलग से चीनी या अन्य मिठास बढ़ाने वाले चीजों की जरुरत नहीं होती है | लेकिन आप जो जूस बाजार से खरीद कर लाते है उसमें अतिरिक्त मिठास के लिए रासायनिक पदार्थो का प्रयोग किया जाता है जो कि स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो सकता है इसलिए व्रत का खाना में या बिना व्रत में आप डिब्बा बंद या केन का जूस पिने के वजाय हमेशा फ्रेश जूस का ही इस्तेमाल करें |
  • व्रत के दौरान आप की डाइट लिमिटेड होती है | आप को पौष्टिक तत्वों की ज्यादा जरुरत होती है | इसलिए फलों को पकाकर या फ्राई करके न खाएं | इससे फलों की पौष्टिकता नष्ट हो जाती है और आपको सिवाय स्वाद के कुछ हासिल नहीं होता है |

जरुर पढ़े : बच्चा खाना नहीं खाता तो अपनाएं यह 10 टिप्स

  • आहार विशेषज्ञों का भी यह मानना है कि डिब्बा बंद जूस पीने के बजाय फल खाना ज्यादा अच्छा होता है | इससे फलों में मौजूद पौष्टिक तत्व तो मिलते ही है साथ ही फाइबर भी मिलता है जो आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होता है |
  • अगर आप को फल खाने के वजाय जूस पीना ज्यादा पसंद है तो आप उसे एक सांस में न पीकर बल्कि हर सिप को थोड़ी देर मुंह में रखकर पिए | इससे जूस पेट में पहुचने से पहले उसमे सलायवा मिक्स हो जाता है जो आपके लिए फायदेमंद होता है |
  • फलों को आप अलग – अलग तरीकों से भी अपने आहार में शामिल कर सकते है | सलाद एक बेहतरीन ऑप्शन है | यह स्वादिष्ट होने के साथ – साथ स्वास्थ्य वर्धक भी होता है | लेकिन फलों को छीलकर काटने से इनका रंग भूरा या काला होने लगता है क्योंकि इसके भीतर एंजाइम्स की आक्सीकरण प्रतिक्रिया होने लगती है | आप इनके मौलिक रंग के संरक्षण हेतु नीबू का रस या शक्कर का प्रयोग कर सकते है |
  • डिब्बा बंद जूस में कृत्रिम रंगो का इस्तेमाल किया जाता है जो कि सवास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है |
  • फल एक रेशेदार पदार्थ होता है इसलिए जूस पीने की जगह सम्पूर्ण फल खाएं | यह मल – विसर्जन की प्रक्रिया को सुगमता प्रदान करता है |

व्रत में फल खाने के फायदे और उसके नियम

  • फल पाचन क्रिया में सहायता प्रदान करते है और यह आँतो की स्वच्छता एवं स्वास्थ्य की दृष्टी से बहुत उपयोगी होते है | इसमें मौजूद गंध और खनिज – लवण तथा ऑर्गेनिक अम्ल पाचक रसो को उत्तेजित करते है एवं फाइबर पाचन नलिका को स्वच्छता प्रदान करता है |
  • फल आत्र नाल में पाचन के लिए उपयुक्त एक प्रकार के बैक्टीरिया को आकर्षित करते है |
  • व्रत के दौरान आप ज्यादातर फल खाकर ही रहते है | अगर आप तीन दिन तक सिर्फ फल खाकर रहते है तो यह एक बहुत ही साधारण और असरदार तरीका है अपनी बॉडी को क्लीन और डीटाक्सिफाई करने का |
  • फल या जूस पिने से आपकी त्वचा चमकदार हो जाती है |
  • व्रत का खाना ज्यादातर तला – भूना ही होता है जिसके कारण पाचन संबंधी दिक्कते पैदा हो जाती है क्योंकि फल एक रेशेदार पदार्थ होता है तो यह आप के मल – विसर्जन की क्रिया में सुगमता प्रदान करता है |

निवदेन – Friends अगर आपको व्रत का खाना  पर यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे जरुर share कीजियेगा और हाँ हमारा free email subscription जरुर ले ताकि मैं अपने future posts सीधे आपके inbox में भेज सकूं |

Babita Singh
Hello everyone! Welcome to Khayalrakhe.com. हमारे Blog पर हमेशा उच्च गुणवत्ता वाला पोस्ट लिखा जाता है जो मेरी और मेरी टीम के गहन अध्ययन और विचार के बाद हमारे पाठकों तक पहुँचाता है, जिससे यह Blog कई वर्षों से सभी वर्ग के पाठकों को प्रेरणा दे रहा है लेकिन हमारे लिए इस मुकाम तक पहुँचना कभी आसान नहीं था. इसके पीछे...Read more.

19 thoughts on “Vrat Ka Khana, उपवास का खाना स्वाद और सेहतभरा बनाने के ये तरीके जरुर अपनाएं

  1. ब्रत मे फलाहार करने के बारे में आपने बहुत अच्छी जानकारी दी है
    बहुत बहुत धन्यवाद…।

  2. अच्छी जानकारी … फलों का प्रयोग तो वैसे ही रोज़मर्रा में भी अच्छा है और जूस तो ताज़ा ही अच्छा रहता है हमेशा … व्रत में क्या खाएँ क्या ना इसकी समस्या हमेशा बनी रहती है … आपने आज हल बता दिया …

  3. व्रत के खाने में फलों का आहार बहुत ही बढ़िया रहता है इससे शरीर को मिलने वाले प्रोटीन मिल जाते हैं बहुत ही अच्छी जानकारी दी आपने इससे बहुत से लोगो को व्रत के समय में आहार लेने के बारे में पता चलेगा

  4. व्रत के खाने के बारे में बहुत उपयोगी जानकारी शेयर की है आपने। धन्यवाद।

  5. व्रत मे खाने को लेकर अक्सर उधेड़ बुन होती है क्या खाये और क्या न खाये । आपने अच्छी जानकारी दी है ।

    नीरज

  6. व्रत करने वालों के लिए अच्छा टिप्स दिया है आपने , व्रत मे स्वास्थ्य का सही तरीक़े से देखभाल बहुत जरुरी होता है , इस सुन्दर पोस्ट के लिए आपका धन्यवाद बबिता जी,

  7. व्रत रखने वालों के लिए अपनी सेहत का ख्याल रखने के लिए बहुत बढ़िया पोस्ट तैयार की है आपने। उम्मीद है लोग इस से लाभ जरूर उठाएंगे।

  8. आपने ब्रत क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए इसके बारे में विस्तार से बता कर हमारी सेहत और ब्रत की पवित्रता बनाये रखने के लिए अच्छी जानकारी share की है . जो हमारे लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है . इसके लिए आपको बहुत बहुत धन्यवाद

  9. बहुत अच्छी जानकारी ।
    आपने यह desipearl के एड कैसे लगाए है। plz इसकी जानकारी दे।

  10. Namaste madam, apke article bahut hi achhe lagte hain hamko. mera poora pariwar apke post padhta hai
    Apki website pahle blogspot pe thi aur jyadatar blogspot se wordpress par aane me bahut se error aate hain to main aapse jaanna chahta hun ki aapne itne achhe se ise migrate kaise kar liya.
    aur madam genesis ka yah wala theme kahin nahi milta aur iske bhi 6000 ya 7000 rupye se jyada is prakar ke theme ke lagte hain apko yah kaise mila pls mujhe comment ka jawab dekar btaiye.. main aapka aabhari rahunga..
    itni achhi site ke shukriya aur yah design bahut hi achhi lag rahi hai is prakar ke blog ke liye.. pls reply jaroor dijiyega madam..
    Thanks ..

    1. ramkumar ji ap hamarisaflta ke kiran sahu se contact kar sakte h is theme ke liye me khud kuch samay ke yah theme purchase kar rha hu. or ha ye theme apko 2000 se bhi km padegi vo bhi full setup k sath. agar ap spiritual article padhna pasand karte h to please sachhiprerna par visit jarur kare

Leave a Reply

Your email address will not be published.