Hindi Post Nibandh Nibandh Aur Bhashan

Nav Varsh Ka Sankalp : जानिए नये वर्ष का संकल्प कैसे करे पूरे

Web Hosting

New Year Resolution पूरा करे इन खास तरीको से 

New Year Sankalp (Resolution) in Hindi : दोस्तों, नव वर्ष आने वाला है और जाहिर सी बात है  जब कुछ नया आता है तो पहले वाला खुद -ब-खुद पुराना हो जाता है | ये तो मानव जीवन की परम्परा है | इस परम्पर की कड़ी को जोड़ते हुए एक और वर्ष विदा हो रहा है |

अब जब नया साल दस्तक दे रहा है तो हर बार की तरह इस साल भी खुद से और दूसरों से कुछ वादें होंगे, कुछ इरादे होंगे, कुछ संकल्प लिए जाएंगे तो कुछ बदलावों को गले लगाने की बात होगीं लेकिन क्या यह वादें, इरादे, संकल्प या फिर बदलाव इतना आसान होगा जितना कि कहना ? नहीं | हर किसी के लिए बदलावों को स्वीकार करना आसान नहीं होता है | ‘बीत गयी सो बात गयी’ कहना जितना आसान है, करना उतना आसान नहीं होता |

अच्छे अनुभव भलें ही याद न रहें, पर कडवी यादें रह – रह कर कचोटती है इसलिए हार से उबरना भी आसान नहीं होता | बार – बार मिली हार ने न जाने कितनी बार आपके सपने और इच्छाओं का गला घोटा होगा लेकिन कई लोग ऐसे भी होते है जिनके सपनें टूट जाते है फिर भी यह सपने देखना नहीं छोड़ते है | कहते है कि नये साल में आपने अगर सोच को नहीं बदला तो साल बदल जाने से क्या होगा ? फ्रेंड्स अब वो वक्त आ गया है कि इस नये साल पर लिए गए संकल्पों पर अमल करने का अगर आप दूसरी संजना या संजू नहीं बनना चाहते है तो |

संजना की बात इसलिए छेड़ी क्योंकि बेहद खुबसूरत और होनहार संजना ने भी नये साल के पहले दिन एक संकल्प लिया कि वह इस साल March में अपने college के annual fest में Miss Beautiful का ख़िताब जरुर हासिल करके रहेगी |

इसके लिए संजना ने जनवरी के पहले हफ्ते में ही शहर के सबसे famous जिम में अपना नाम लिखवाया | जहाँ के जिम instructor ने खुद संजना को भरोसा दिलाया कि अगर उनके बताएं नियमों के अनुसार दो महीने भी जिम में workout करती है तो यकीनन वह अपना extra weight घटा कर perfect figure के साथ  Miss Beautiful का ख़िताब  पा सकती है |

Nav Varsh Ka Sankalp
Nav Varsh Ka Sankalp

संजना ने जोश के साथ जिम जाना शुरू कर तो दिया लेकिन दूसरे ही हफ्ते से किसी दिन घने कोहरे तो किसी दिन ठंड के कारण जिम नहीं गई और तो और किसी दिन आलस के कारण जिम नहीं गई | कुल मिला जुला कर संजना इस पूरे जनवरी महीने में कुछ दिन ही जिम गई जिसका नतीजा यह हुआ कि संजना का वजन कम होने की जगह बढ़ गया | संजना को लगता था कि वह जिम जा रही है तो वजन कम होना ही है और इस वजह से उसने अपनी diet पर भी ठीक से ध्यान नहीं दिया |

संजना की अनियमिता को देख कर उसके instructor ने भी हाथ खड़े कर दिए है | अब संजना यह सोच कर परेशान है कि वह college के Miss Beautiful ऑडिशन के पहले राउंड में ही बाहर हो जाएगी | साथ ही उसे इस बात का पछतावा हो रहा है कि काश उसने नए साल पर खुद से लिया संकल्प पूरा किया होता तो शायद ये दिन नहीं देखना पड़ता | लेकिन अब पछताए होय क्या जब चिड़िया चुग गई खेत |

दोस्तों संजना के वादे में कोई कमी नहीं थी, अगर कही कमी थी तो बस उसकी मेहनत और लगन में जो उसे मात दे गई | शायद संजना को ये नहीं मालूम है कि सौंदर्य प्रतियोगिता में जीत हासिल करने के लिए कठोर परिश्रम और कड़े अनुशासन का पालन करना पड़ता है | बहुतों को लगता है कि Priyanka Chopra, Aishwarya Rai जैसी अभिनेत्रियाँ विश्व सुंदरी ऐसी ही नहीं चुनी गई जबकि इन्होने विश्वसुन्दरी प्रतियोगिता के लिए बेहद कठिन दिनचर्या में रहकर पौष्टिक आहार, योग, जिम आदि को अपनाकर इस मुकाम को हासिल किया है |  

दोस्तों संजना की कहानी बताने का मेरा मकसद बस इतना है कि नए साल पर लिए गए resolution को याद दिलाना | हालही में हुए एक सर्वेक्षण के अनुसार सौ में से 92 लोग नए साल पर लिए गए संकल्प साल के पहले चार हफ़्तों में ही तोड़ चुके होते है तो कही आप भी आप संकल्प तो नहीं भूल गए | आइये सबसे पहले यही जानते है कि क्यों नए साल पर किया संकल्प केवल कुछ हफ़्तों में लोग भूल जाया करते है |

क्या कारण है कि नए साल का संकल्प 4 हफ़्तों में ही दम तोड़ देता है

आपने कभी सोचा है कि जो हर साल 1 जनवरी को संकल्प लेते है वह आखिर क्यों 31 जनवरी आते आते दम तोड़ने लगता है | वैसे तो कई कारणों से आप का नए साल का संकल्प (new year resolution) टूट जाता है लेकिन मुख्य 4 कारण होते है जो निम्न है –

  • दृढ़ निश्चय (firm determination) की कमी |
  • आत्मविश्वास (self confidence) की कमी |
  • समय (time) की कमी |
  • नामुमकिन (impossible) वादें |

हर बार यही होता है की जैसे ही नया साल दस्तक देता है संकल्प लेने का दौर शुरू हो जाता है | इसमें कुछ गलत नहीं है लेकिन नए साल पर लिए गए संकल्पों पर अमल करना भी बहुत जरुरी होता है नहीं तो संकल्पों के दम तोड़ने में वक्त नहीं लगता |

आप के नए साल का संकल्प दम न तोड़े, इसलिए आज मैं आप से साल के दूसरे महीने में उन संकल्पों को पूरा करने के बारे में बात कर रही हूँ जिसे आप ने नए साल के पहले दिन लिया था और जो अब तक ठंडे बस्ते में पहुंच चुके होंगे |

New Year Resolution in Hindi
New Year Resolution in Hindi

आप को ज्यादा परेशान होने की जरुरत नहीं है | अभी ज्यादा समय नहीं बीता है | आप अभी भी अपने नए साल के संकल्पों को पूरा कर सकते है बशर्ते आप को निम्न टिप्स पर ध्यान देना होगा –

9 Best Tips to complete new year resolution (नए साल का संकल्प को पूरा करने के 9 टिप्स)

  • कही आप भी तो ये नहीं सोचते कि किस्मत पहले ही लिखी जा चुकी है तो कोशिश करने से क्या मिलेगा ? लेकिन क्या पता ऐसा भी तो हो सकता है कि किस्मत में लिखा हो कि कोशिश से ही मिलेगा | इसलिए अगर आप ने संकल्प लिया है तो उसे दृढ़ निष्ठा से पूरा करने की कोशिश करें क्योंकि कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती है | ये लाइन आपको भले ही घिसीपीटी लेगे पर वास्तविकता यही है | इसलिए इस बात पर एक बार अमल जरुर कीजिए |
  • कई बार हम समय या आत्मविश्वास की कमी के कारण भी अपने नए साल के संकल्पों को पूरा करने में असमर्थ हो जाते है | इसलिए सबसे पहले तो आप अपने मन पर जीत हासिल कीजिए क्योंकि आपका आत्मविश्वास ही आपकी सर्वश्रेष्ठ पूँजी है | भगवद गीता (Bhagwad Gita) में भी यह बात कही गई है कि व्यक्ति जो चाहे बन सकता है यदि वह विश्वास के साथ इच्छित वस्तु पर लगातार चिंतन करे | इच्छित वस्तु यानि अपने नए साल के संकल्प को तभी पूरा कर सकते है जब आप में खुद पर विश्वास हो क्योंकि

           “मैदान में हारा हुआ फिर से जीत सकता है |

              परंतु मन से हारा हुआ कभी जीत नहीं सकता |”

Loading...
  • खुद से कोई भी ऐसा वादा न करें जो आप निभा न सके | आप अपने आप को वह बनाने की कोशिश न करें, जो आप नहीं है | इसमे आप का समय बर्बाद होने के शिवा और कुछ नहीं होगा |

Also Read : विचारों से बनती है Personality

  • आप नए साल में खुद से किए हुए वादे को छोटे – छोटे कदम में बाट लें | ये कदम भले ही छोटे हो लेकिन आप को अपनी मंजिल तक जरुर पहुंचाएगी | आपने यह कहावत तो जरुर सुनी होगी कि ‘हजारों मीलों की दूरी बस पहले कदम से शुरू होती है |’ एक बात और अपने छोटे – छोटे कदमों को पूरा होने पर खुद को शाबाशी देना न भूलें |
  • नए साल के संकल्प किसी को खुश करने के लिए नहीं लें | इससे आप केवल मजाक के पात्र बनेंगे | इसलिए आप जो भी वादा करें खुद की भलाई के लिए करें |
  • Impossible वादे करने से बचें | कोई भी वादा करने से पहले अपनी क्षमता और समय को नापतोल लें |
  • संकल्प उतना ही करें जितना कि आप पूरें कर सके | कभी – कभी यह होता है कि जोश में आप एक साथ कई सारे संकल्प लें लेते है और जब उन्हें पूरा करने का वक्त आता है तो आप को याद ही नहीं रहता कि आपने क्या संकल्प लिया था |
  • कुछ लोग ऐसे भी होते है जो नए साल का संकल्प या वादा करने से डरते है | ऐसे लोग गिरने के डर से आगे ही नहीं बढ़ना चाहते है | लेकिन एक बात याद रखिए गिर कर संभलने वालों की ही जीत होती है | अगर आप के मन में किसी बात का डर है तो उसे अपने परिवार व दोस्तों को बताइए | उनसे आपको जरुर सहायता व मार्गदर्शन मिलेगा |
  • आशा में बहुत शक्ति होती है इसलिए कभी भी उम्मीदों का साथ न छोड़े |

निवदेन – Friends अगर आपको Nav Varsh Ka Sankalp / नए साल का संकल्प पर यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे जरुर share कीजियेगा और हाँ हमारा free email subscription जरुर ले ताकि मैं अपने future posts सीधे आपके inbox में भेज सकूं |

Loading...
Copy

23 thoughts on “Nav Varsh Ka Sankalp : जानिए नये वर्ष का संकल्प कैसे करे पूरे”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *