Hindi Post Hindi Stories

Story on discipline in hindi (अनुशासन पर कहानी)

अनुशासन के महत्व पर शिक्षाप्रद हिंदी कहानी ( Short Moral Hindi story on Importance Of Discipline)

हम सब जानते है कि गांधी जी को अनुशासन बहुत पसंद था | उनका मानना था कि अनुशासन एक ऐसा क्रम है एक ऐसी नियमित प्रक्रिया है जो कार्य अथवा जीवन की अभिव्यक्ति में सुन्दरता उत्पन्न करती है | Discipline ही है जो व्यक्ति को व्यवस्थित जीवन व्यतीत करना सीखलाता है और उसके सुख का साधन बनता है |

जरुर पढ़े :

कर्तव्य परायणता पर हिंदी कहानी

इसलिए अनुशासन के महत्व को समझने के लिए गांधी जी से अच्छा उदाहरण और कुछ नहीं हो सकता –

Story on Anushasan : अनुशासन पर हिंदी कहानी

Story on discipline in hindi
Story on discipline in hindi

यह बात उस दौरान की है जब गांधीजी के आश्रम में सभी लोग एक साथ रसोईघर में बैठकर खाना खाते थे और सबके साथ गांधीजी भी खाते थे |

किन्तु भोजनालय का एक नियम था कि जो व्यक्ति भोजन आरंभ होने से पहले भोजनालय में नहीं पहुचता था उसे अपनी बारी के लिए बरामदे में इंतजार करना पड़ता था | क्योंकि भोजन प्रारम्भ होते ही रसोईघर के दरवाजे को बंद कर दिया जाता था ताकि समय से न आने वाला व्यक्ति अन्दर न आने पाए |

संयोगवश एक दिन गांधीजी को पहुंचने में कुछ क्षणों का विलम्ब हो गया और तब तक रसोई घर का दरवाजा बंद हो चूका था | बापू जी दरवाजे पर ही खड़े होकर प्रतीक्षा करने लगे | उनके एक मित्र ने देखा कि वह रसोई घर के दरवाजे के बाहर खड़े है और वहां बैठने के लिए कोई कुर्सी भी नहीं है |

जरुर पढ़े : परिश्रम का फल पर हिंदी कहानी

उन्होंने गांधीजी के पास आकर मुस्कुराते हुए कहा कि बापूजी आज तो आप भी गुनहगारों के कठघरें में आ गए |

इस पर गांधीजी बोले “ भई ,अनुशासन का पालन करना तो सबका कर्तव्य होता हैं तो मेरा क्यों नहीं”

तब मित्र ने कहा “ आप के लिए कुर्सी ले आता हूँ | ”

गांधीजी ने जबाब दिया “ कुर्सी की जरुरत नहीं है | मैंने अनुशासन का उलंघन किया है इसलिए मुझे भी सजा पूरी ही भुगतनी चाहिए | जैसे देर से आने वाले और लोग बरामदे में खड़े होते है , वैसे ही मैं भी खड़ा रहूंगा | ”

Moral of the Hindi Story on Discipline

  • गांधीजी अनुशासन का सबसे अच्छा रूप आत्मानुशासन को मानते थे क्योंकि आत्मानुशासन से व्यक्ति किसी भी परिस्थिति में समायोजन कर लेता है |
  • इस कहानी से हमें यह सीख मिलती है कि अगर हमें जीवन में सफल होना है तो इसके लिए सबसे पहले अपने आप पर विजय पानी होगी अर्थात स्व – अनुशासन का पालन करना होगा |

Also Read Hindi Story : बुरे व्यवहार का बुरा नतीजा

 FREE e – book “ पैसे का पेड़ कैसे लगाए ” [Click Here]
Friends अगर आपको अनुशासन पर हिंदी कहानी अच्छी लगी हो तो इसे जरुर share कीजियेगा और हाँ हमारा free email subscription जरुर ले ताकि मैं अपने future posts सीधे आपके inbox में भेज सकूं |

Babita Singh
Hello everyone! Welcome to Khayalrakhe.com. हमारे Blog पर हमेशा उच्च गुणवत्ता वाला पोस्ट लिखा जाता है जो मेरी और मेरी टीम के गहन अध्ययन और विचार के बाद हमारे पाठकों तक पहुँचाता है, जिससे यह Blog कई वर्षों से सभी वर्ग के पाठकों को प्रेरणा दे रहा है लेकिन हमारे लिए इस मुकाम तक पहुँचना कभी आसान नहीं था. इसके पीछे...Read more.

7 thoughts on “Story on discipline in hindi (अनुशासन पर कहानी)

  1. अनुशासन सभी लोगों के लिए ज़रूरी होता है ,अनुशासन की सीख महात्मा गान्धी जी से लेनी चाहिए,महात्मा गांधी जी अनुशासन के अच्छे स्रोत है,

Leave a Reply

Your email address will not be published.