Hindi Post विविध

व्यक्तित्व विकास : 5 Best Personality Development Tips in Hindi

व्यक्तित्व विकास के बेस्ट टिप्स : Best Personality Development Tips in Hindi

Personality Development Tips in Hindi
Personality Development Tips in Hindi

Personality Development Tips in Hindi : अकसर लोग किसी भी आकर्षक व्यक्ति को देखकर या उससे मिलकर व बातचीत कर कहते है कि अमुक व्यक्ति का personality बहुत अच्छा है लेकिन वास्तविक अर्थ से पूरी तरह अनभिज्ञ रहते है | दरअसल Personality व्यक्ति के विकास का एक अति महत्वपूर्ण पहलू है | Personality में व्यक्ति के समस्त शारीरिक, मानसिक, नैतिक और सामाजिक गुण सम्मिलित रहते है और यह व्यक्ति के अनेक गुणों से मिलकर बनता है |

इन्ही गुणों में से एक महत्वपूर्ण गुण विचार | मैंने last week Dr. A.P.J. Abdul Kalam के शिष्य सृजनपाल सिंह का सेमिनार attend किया जिसमे उनकों कहते सुना कि “ आपके विचार personality को सकारात्मक या नकारात्मक बनाने में सक्षम होते है मतलब की जैसे आपके विचार होंगे वैसे ही आपका व्यक्तित्व होगा  |” मैं उनके बातों से पूरी तरह सहमत हूँ | हमारे जीवन में बहुत से ऐसे अवसर आते है जहाँ पर सकारात्मक और नकारात्मक विचारों के बीच जंग होती है ऐसे में जो विचार जीतता है उसी पर हमारा personality निर्भर करता है |

आज यहाँ पर कुछ ऐसी टिप्स के बारें में बताउंगी, जिन्हें आप जब अमल में लाएंगे तो अच्छे विचारों के साथ अच्छी personality आप के पास होगी |

1- अपने विचारों पर नजर रखे

आप अपने सोच और विचारों पर नजर रखें क्योंकि ये ही आपके शब्द बनते हैं | अपने शब्दों पर निगाह रखें क्योंकि ये शब्द ही आपके कर्मों का रूप धर लेते हैं | अपने कर्मों पर गौर करें क्योंकि इनसे आपकी आदते तय होती हैं | अपनी आदतों पर नजर रखें, जिनसे आपका चरित्र निर्धारित होता है | जब विचारों, शब्दों, कर्मों, और आदतों पर नजर रखना आपके चरित्र में शामिल होगा तो आप अपने मन – मस्तिष्क के नकारात्मक विचारों के पैदा होते ही उखाड़ फेकने की स्थिति में होंगे | एक बार आप को इस बात की जानकारी हो जाएगी तो आप खुद – ब – खुद अपनी बेहतरी सुनिश्चित कर सकेंगे |

2- सकारात्मक विचारों (Positive Thoughts) को दें महत्व

नकारात्मकता का परित्याग कर सकारत्मक दृष्टिकोण अपनाएं | जब आप के विचार सकारात्मक और आशावादी होंगे तो बिगड़ी बात भी आसानी से बन जाएगी | कोई चुनौती इतनी बड़ी नहीं होती, जिनसे निपटा न जा सके | कहने का अभिप्राय यह है कि आप अपने सकारात्मक विचारों की शक्ति के महत्व को समझें क्योंकि अपने – आप को सकारात्मक मूड में आप खुद ही रख सकते है | आपको किसी परेशानी या परिस्थिति अथवा अवसर से प्रभावी ढंग से निपटना है तो सकारात्मक दृष्टिकोण को अपनाने से ही फायदा होता है और यही personality की पहचान होती है |

3- सकारात्मक और नकारात्मक विचारों को समझने की योग्यता

दिमाग सकारात्मक और नकारात्मक दोनों तरह से सोचता है | अत: आप मूड – मीटर का इस्तेमाल करें | यह ऐसा उपकरण है जिसे आप खुद तैयार कर सकते है उस पर आप सकारात्मक और नकारात्मक दोनों कारको को अंकित करते हुए यह सुनिश्चित करें कि आप सकारात्मक ही रहेंगे | विचारों को ठीक से समझने व आलोचनात्मक दृष्टि से देखने की योग्यता अपने अन्दर विकसित करें क्योंकि कभी – कभी बड़े महत्वपूर्ण विचार एक क्रेज के साथ हमारे दिमाग में आते है अगर सही समय पर इन विचारों की शक्ति को आप समझ लेते हैं तो यह आपके personality विकास में लाभदायक होता है |

4- संगत काप्रभाव

स्वामी विवेकानंद ने कहा हैसमझदार आदमी से की गयी कुछ मिनट की बात हजारों किताबे पढ़ने से कही बेहतर है | ” मतलब कि आपके personality पर आस – पास के लोगों और आपकी संगत का भी प्रभाव पड़ता है |

इसलिए अपने संबंध सकारात्मक, आशावादी व समझदार personality वाले लोगो से रखे क्योंकि ये लोग positive energy से भरे होते है | ऐसे लोगो से दूर ही रहे जो हमेशा नकारात्मक सोचते है | ऐसे लोग न तो अच्छा सोचते है और न ही सोचने देते है | ऐसे लोगों के साथ रह कर कोई भी अच्छे विचार नहीं ला सकता है | सच कहूँ तो संत की संगत करने वाले सज्जन और दुर्जन व्यक्ति की संगत करने वाले बुरे personality वाले होते है | किसी व्यक्ति की personality का अंदाजा उसकी संगत से भी लगाया जा सकता है |

5- अच्छी आदतें और व्यायाम (Healthy Habits and Exercise )

 शानदार personality को पाने के लिए क्यों न अब थोड़ी exercise कर ली जाए | जी हाँ , आज ही आप संकल्प लें कि नियमित exercise करेंगे जैसे की morning walk, running, cycling, swimming या अपनी पसंद का कोई भी physical exercise | इससे आपका शरीर भी स्वस्थ होगा और स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क का विकास होता है |

 

जब मन स्वस्थ होगा तो आप खुश होंगे और जब आप खुश होंगे तो मन में अच्छे विचार आएंगे | यही विचारों  की शक्ति आप के personality निर्माण में योगदान देंगे |

यह तो अब तक आप जान चुके है कि व्यक्तित्व विकास कभी भाग्य या घटनाओं का विषय नहीं होता | यह तो सशक्त विचारशक्ति और कठिन परिश्रम पर निर्भर करता है | इसलिए इमानदारी से अपने सच्चे और अच्छे विचारों के साथ आगे बढ़े | इस तरह आप अपने व्यक्तिव का विकास कर सकते है |

निवदेन -Friends अगर आपको Personality Development Tips in Hindi पर यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे जरुर share कीजियेगा और हाँ हमारा free email subscription  जरुर ले ताकि मैं अपने future posts सीधे आपके inbox में भेज सकूं |

Loading...
Copy

10 thoughts on “व्यक्तित्व विकास : 5 Best Personality Development Tips in Hindi”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *