Hindi Post

मन के विचारों को तत्काल लिखने के 6 जबरदस्त फायदे

बात उस समय की है जब मैं स्कूल में पढ़ती थी | Assembly के खत्म होने के बाद कुछ प्रेरक प्रसंग कहे जाते थे | एक दिन हम सभी बच्चों से यह पूछा गया कि वह कौन सी चीज है जो सबसे तीब्र गति से चलती है | किसी ने कहा हवा तो किसी के कहा रौशनी | तब teacher ने ही बताया कि मन की ही सबसे तीब्र गति होती है | उन्होंने यह भी बताया कि मन की गति प्रकाश की गति से भी अधिक तीब्र होती है और यह बंदर से अधिक चंचल व उछल – कूद करने वाला होता है | मेरा अभिप्राय यह है कि मन के विचार एक विषय से दूसरे विषय पर बहुत जल्दी बदल जाते है और यह विचार इतनी तेजी से बदलते है कि कभी – कभी आवश्यक विचार भी हमारे स्मृति पटल पर अंकित नहीं हो पाते है और नए विचारों के बीच कही खो जाते है |

पुराने विचारों पर नए विचार इतने हावी हो जाते है कि पुराने विचार दूंढ़ने से भी नहीं मिलते | नए विचारों का यह अनवरत सिलसिला पुराने विचारों को निरंतर दबाता चला जाता है | लेकिन यह कोई समस्या नहीं है क्योंकि सोचना मन का स्वभाव है जिसे आप रोक नहीं सकते |  लेकिन आप अपने विचारों पर नजर जरुर रखें क्योंकि यही आप के शब्द बनेंगे | अपने शब्दों पर निगाह रखें , क्योंकि ये शब्द ही आपके कर्मो का रूप धरेंगे | इसके लिए सबसे जरुरी है अपने मन के विचारों को तत्काल लिखने अर्थात् कलमबद्ध करना | कलमबद्ध करने की प्रवृति एक तरफ विचारों की उपयोगिता को बरक़रार रखती है तो दूसरी तरफ व्यक्तित्व विकास में भी सहायक होती है |

मन के विचारों को तत्काल लिखने

मन के विचारों को तत्काल लिखने जरुरी है 

मन के विचारों को तत्काल लिखने के लिए मैं अपने purse में एक छोटी diary और एक छोटा pen हमेशा रखती हूँ | अपने students को पढ़ाने से सम्बंधित नया विचार हो या  फिर हमारे NGO से जुड़ी महिलाओ की किसी समस्या से सम्बंधित कोई विचार या अपने blog से सम्बंधित कोई विचार मैं उसे तुरंत लिख लेती हूँ और यकीन मानिए इससे मुझे बहुत फ़ायदा हुआ है | आज इस topic पर लिखने का विचार भी मेरी उसी छोटी diary की देन है जो अपनी NGO की monthly मीटिंग के दौरान साथी सदस्यों की समस्याओं को सुनते समय आया | इसलिए मैं जिंदगी में सफल होने के लिए मन के विचारों की क्या अहमियत होती है और उनको कलमबदं करना कितना जरुरी है इस बारे में आप से बाते करूंगी :

6 Powerful Reasons Why You Should Write Your Thoughts Down

[ Also Read :5 steps for successful career in hindi ]

(1) विचारों से प्रभावित होने की प्रवृति  

आजकल के युवाओं की creativity, हर नए क्षेत्र के प्रति जिज्ञासा, उत्सुकता, पल – पल नई योजना बनाना, अन्य विचारों से प्रभावित होने की प्रवृति कई अवसरों पर कार्य में रुकावट और अनावश्यक देरी का कारण बन जाती है | लेकिन यह भी सत्य है कि सफलता की कोई निश्चित दिशा नहीं होती | वह बहुआयामी होती है | सफलता प्राप्ति के प्रयास नवीनता की मांग करते है , और यह नवीनता विचारों से उत्पन्न होती है | इसलिए विचारों की उपेक्षा न करें बल्कि इसपर नजर रखें | हो सकता है प्रारम्भ में आपको यह विचार हास्यास्पद एवं असंभव लगे | लेकिन अगर आप अपने मन के विचारों को कलमबद्ध कर लेंगे तो आवश्यकता पड़ने पर आप उनपर नए सिरे से विचार कर पाएंगे |

(2) मानसिक दबाव से मुक्ति 

 आजकल की lifestyle बहुत भाग – दौड़ व जल्दबाजी वाली हो गयी है | इसका प्रभाव हमारी स्मरण शक्ति पर भी पड़ रहा है | जल्दबाजी का आलम यह होता है कि हमें एक दिन पहले के विचारों को सोचने के लिए जोर डालना पड़ता है जो एक प्रकार का तनाव उत्पन्न करता है |  इसके अलावा हम विचारों को उस रूप में भी नहीं याद कर पाते जिस तरह के विचार पहले मन में आये होते है | Student के लिए तो यह बेहद उपयोगी होता है कि वह exam question का answer देते समय answer के विषय में important बातें एक तरफ लिख लें | इससे आप का समय भी बचेगा और आवश्यकता पड़ने पर लिखे हुए विचारों को सही ढंग से उपयोग में ला पाएंगे और सारपूर्ण answer दें पाएंगे | इसलिए हमें अपने मन के विचारों को तत्काल लिखने की कोशिश करनी चाहिए क्योंकि आजकल की lifestyle के बीच याद्दाश्त पर भी भरोसा नहीं किया जा सकता है |

(3) मन , मस्तिष्क को एकाग्र करने में सहायक 

यह अक्सर होता है कि हम अपने दैनिक क्रिया – कलापों में इस कदर मशगूल हो जाते है या फिर अपने आप को कम महत्वपूर्ण कामों में उलझाए रखते है | ऐसे में हमारा ध्यान मकसद से हट जाता है और  हमारे द्वारा छोड़े गए अधूरे काम या फिर जिन कामो को अभी पूरा करना बाकी रह गया हो वह सब हमारे मन मस्तिष्क में घूमता रहता है और इस वजह से जो काम हम present में कर रहे होते है उसको करने में एकाग्र नहीं हो पाते है | विचारों को कलमबद्ध करने से हम अनावश्यक विचारों को समझने में सक्षम हो जाते है, जिसके कारण व्यर्थ का भटकाव नहीं होता है |
[ Also Read : हारी बाजी को जीतना जिसे आता है…….]

(4) विचार (Ideas) लम्बे समय तक मन में नहीं रहते है 

हमारा मन एक छेद वाली बाल्टी की तरह जिसमे विचार लम्बे समय तक नहीं रुक पाते है | कोई विचार कभी भी , कही भी और किसी भी समय आ सकता है लेकिन ध्यान रखने वाली बात यह है कि विचार लम्बे समय तक मस्तिष्क में नहीं रहते है | इससे पहले कि वह मस्तिष्क से निकल कर हवा में गायब हो जाए उन्हें कलमबद्ध करना जरुरी है |

(5) शीघ्र निर्णय क्षमता का विकास 

 विचारों को कलमबद्ध करने की आदत शीघ्र निर्णय क्षमता का विकास करती है | जब हमारे विचारों का एक संग्रह तैयार हो जाता है तब हम लोग अनुभव से यह निर्णय लेने में सक्षम हो जाते है कि हमें किस कार्य को शुरू करने से सफलता मिलेगी और हम अपनी क्षमता के अनुसार सही व उचित निर्णय लेने में सक्षम हो पाते है |

(6) स्पष्ट सोच  

ऐसा अकसर होता है आप के दिमाग में एक साथ कई विचार आते है और सब मिलकर आपको confuse कर देते है लेकिन जब आप उन्हें लिख लेते है तो आपके सामने से विचारों के धुंधले बादल छट जाते है और आप तब सही विचार / सोच के साथ आगे बढ़ सकते है | इसका एक फायदा यह होगा कि जो समय आपका विचारों को याद करने में लगता उस समय का उपयोग अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में लगा सकते है |

अपने मन के विचारों को तत्काल लिखने के कुछ आसान से tips 

  • हर रोज लिखे | जरुरी नहीं है की वह interesting तथा grammatically सही हो |
  • खूब पढिये |
  • Be specific.
  • अगर आपके मन में कोई अच्छा विचार आये तो उसे तुरंत लिखिए | आपका हाथ चलता रहना चाहिए | एक बार जब आप लिखना शुरु कर दे तो edit करने के लिये रुकने की जरुरत नहीं है | बस लिखते रहिये |

निवदेन– Friends अगर आपको मन के विचारों को तत्काल लिखने पर यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे जरुर share कीजियेगा और हाँ हमारा free email subscription जरुर ले ताकि मैं अपने future posts सीधे आपके inbox में भेज सकूं |

Loading...
Copy

6 thoughts on “मन के विचारों को तत्काल लिखने के 6 जबरदस्त फायदे”

  1. Acche vicharo ki ahmiyat hamesa hoti hai aap ne yah post bhut hi achha likha hai itne achhe post ke lie aapka dhnybad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *