pregnancy diet in hindi
Health Hindi Post

गर्भावस्था में क्या नहीं खाना चाहिए (Pregnancy me kya nahi khana Chahiye)

Web Hosting

प्रेगनेंसी (गर्भावस्था) में क्या नहीं खाना चाहिए (Pregnancy (Garbhavastha) me kya Nahi khana Chahiye)

Pregnancy me kya nahi khana Chahiye : गर्भावस्था व्यस्क स्त्री के जीवन की वह अवस्था होती है जब गर्भवती के शरीर के अन्दर अजन्मे बच्चे अर्थात भ्रूण की वृधि और विकास होता है | इस तरह भ्रूण की वृधि व विकास होने से स्त्री में कुछ शारीरिक परिवर्तन भी होते है जो की गर्भवती महिला के आहार में  परिवर्तन और बढ़ोत्तरी अनिवार्य बना देता है | लेकिन कभी – कभी महिलाए गर्भावस्था के दौरान संतुलित खाना खाने की लालसा में कुछ अनचाही चीजे खा लेती है या अत्यधिक खा लेती है जो कि गर्भवस्था में वर्जित होती है |

हर गर्भवती महिला कि यह इच्छा होती है कि वह एक तंदुरुस्त बच्चे को जन्म दें | कई स्त्रियां ऐसी भी है जिन्हें लगता है कि प्रेगनेंसी के दिनों में कुछ विशेष आहार या फ्रूट को खानपान में शामिल करने से बच्चा गोरा पैदा होता है | लेकिन सच तो यही है कि ऐसा कोई आहार नहीं जिसे खाने से बच्चा गोरा पैदा हो | इसलिए एक स्वस्थ बच्चे को जन्म देने के लिए प्रत्येक pregnant women के लिए आहार में जितना जरुरी इस बात की जानकरी होना है कि प्रेगनेंसी में क्या खाए उतना ही जरुरी यह जानना भी है कि प्रेगनेंसी में क्या नही  खाना चाहिए |

Pregnancy me kya nahi khana Chahiye
Pregnancy me kya nahi khana Chahiye

इसलिए Pregnancy में सेहत की सही देखभाल कैसे की जाए या क्या खाना खाए कि जिससे न तो गर्भवती को कोई नुकसान हो और न ही बच्चे को कोई हानि हो | इसलिए प्रेगनेंसी में क्या खाना चाहिए इस बारे में जानकारी पाने के लिए आप नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके पढ़े तथा प्रेगनेंसी में क्या नहीं खाना चाहिए इसके बारे में यहाँ पर आपसे कुछ बातें शेयर कर रही हूँ क्योंकि इस अवस्था में महिलाओं को कुछ विशेष खानपान को ध्यान में रखना पड़ता है | 

सबसे पहले तो ये जान लेते है कि गर्भधारण के उपरान्त महिलाओं में वो कौन से शारीरिक परिवर्तन होते है जो गर्भधारण को प्रभावित करते है | यह परिवर्तन कुछ इस प्रकार से होते है :

health care in pregnancy in hindi

–> वजन में वृधि

–> पाचन क्रिया में परिवर्तन

–> Metabolism rate में परिवर्तन

–> शरीर में पानी की मात्रा का बढ़ना

–> Blood circulation में परिवर्तन

–> स्तनों में परिवर्तन

–> त्वचा में परिवर्तन

उपर्युक्त परिवर्तन में संतुलन बनाये रखने के लिए आवश्यक है की गर्भवती स्त्री अपने आहार (pregnancy diet) पर ध्यान दे क्योंकि थोड़ी सी लापरवाही भी समस्या उत्पन्न कर सकती है |

प्रेगनेंसी में क्या नहीं खाना चाहिए (Grrbhavastha me kya nahi khana chahiye)

–> गर्भवती महिला को बासी एवं अधिक मिर्च – मसालेदार खाना खाने से परहेज करना चाहिए |

–> बाजार के खुले में बिक रहें खाने से परहेज करें | यह आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है |

–> खाना खाते समय अधिक मात्रा में पानी नहीं पीना चाहिए | पानी खाना खाने के एक घंटे के बाद ही पीना चाहिए |

–> अधिक पके हुए फल भी नहीं खाने चाहिए |

Loading...

–> कठिनता से पचने वाले आहार नहीं खाना चाहिए |

–> गेहूं का छना आटा नहीं खाना चाहिए |

–> मशीन से कुटे चावल खाने से परहेज करना चाहिए |

–> गर्भवती महिलाओं को चाक, मिट्टी, बालू, ईट का चूरा आदि खाने का मन करता है लेकिन इन्हें हरगिज न खाए | यह आपके स्वास्थ्य के लिए घातक हो सकता है |

–> कार्बोज तथा वसायुक्त पदार्थ जरुरत से अधिक नहीं लेना चाहिए क्योकि ये पदार्थ मोटापा बढ़ाते है जो इस अवस्था के लिए ठीक नहीं है |

–> भोजन में प्रोटीन, खनिज लवण और vitamin की मात्रा कम नहीं चाहिए.

–> प्रेगनेंसी में वजन 24 से 28 pound से अधिक नहीं बढ़ना चाहिए.

–> प्रेगनेंसी में पानी से दूरी अच्छी नहीं | इसलिए पानी अधिक मात्रा में पीना चाहिए – कम से कम 10 गिलास.

–> आहार में अंकुरित आनाज व दालों को शामिल करने की अनदेखी बिलकुल ना करे |

–> प्रेगनेंसी में पॉलिश वाली चावल न खाएं |

–> आयरन की आवश्यकता को पूरा करने के लिए बथुआ, हरी पत्तेदार सब्जियाँ, यकृत, पालक, अंडा आदि को आहार में सम्मलित करें.

–> अधिक मिर्च मसालेदार तथा तले-भूने भोजन से दूर रहें |

Also Read : प्रेगनेंसी के बाद देखभाल नई माँ की

गर्भवती महिला को एक सामान्य स्त्री की तुलना में अधिक पौष्टिक खाना खाने की जरुरत होती है | यदि उसे पौष्टिक खाना नही मिलता है तो निम्न समस्याएँ पैदा हो सकती है –

–> शिशु का वजन जरूरत से ज्यादा कम होना |

–> समय से पूर्व ही प्रसव हो जाना |

–> माँ और बच्चे दोनों के जीवन पर संकट होना |

–> अस्वस्थ शिशु का जन्म होना |

आपने यह तो सुना ही होगा कि अभिमन्यु ने कैसे चक्रव्यूह की रचना व उसे तोड़ना सुभद्रा के गर्भ में ही सीख लिया था | इसलिए स्वस्थ रहकर एक स्वस्थ्य बच्चे को जन्म देने के लिए आपको प्रेगनेंसी में क्या खाना चाहिए क्या नहीं की जानकारी के साथ समय – समय पर डॉक्टर के परामर्श अनुसार सेहत की सही देखभाल करनी चाहिए ताकि आप और आप का बच्चा दोनों स्वस्थ रहें |

*********************************************************************************************

*********************************************************************************************

निवदेन Friends अगर ‘आपको प्रेगनेंसी में क्या न खाए’ (Pregnancy me kya nahi khana Chahiye) पर यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे जरुर share कीजियेगा और हाँ हमारा free email subscription जरुर ले ताकि मैं अपने future posts सीधे आपके inbox में भेज सकूं |

Loading...
Copy

One thought on “गर्भावस्था में क्या नहीं खाना चाहिए (Pregnancy me kya nahi khana Chahiye)”

  1. गर्भावस्था पर बहुत ही अच्छा लेख लिखा है,बबिता जी आपने ,यह लेख हमें बहुत ही पसन्द आया , और बहुत कुछ जानकारी भी मिला ,लेख के लिए आपका बहुत- बहुत धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *